Karnataka political crisis : इस विधायक ने नहीं खोले पत्ते, वरिष्ठ नेताओं की धडक़नें तेज

  • कई दिग्गजों के समझाने पर भी नहीं हुए राजी
  • पूर्व मंत्री ने कहा कि अपने रुख की सदन में करेंगे घोषणा
  • कांग्रेस व जेडीएस नेताओं की धडक़न तेज

बेंगलूरु. विधायक पद से त्यागपत्र देने के बाद कांग्रेस के कई दिग्गजों के समझाने पर भी नहीं झुकने वाले पूर्व मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामलिंगा रेड्डी ने अपने पत्ते खोलने पर रहस्य बनाए रखा है।

रेड्डी का कहना है कि वे गुरुवार को विधानसभा में चलने वाली विश्वासमत की प्रक्रिया के दौरान मौजूद रहेंगे और उसी दिन अपने निर्णय का खुलासा करेंगे। रेड्डी के इस रवैये ने कांग्रेस व जद-एस के नेताओं के दिलों की धडक़ने बढ़ा दी हैं। रेड्डी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के विश्वासमत पेश करने के दौरान वे सदन में मौजूद रहेंगे और उसी दिन सरकार को समर्थन देने या नहीं देने के संबंध में अपने फैसले की सदन में ही घोषणा करेंगे। यह बयान देकर रेड्डी ने अपने अगले कदम को लेकर और अधिक असमंजस की स्थिति उत्पन्न कर दी है।

उन्होंने कहा कि विधायक पदों से त्यागपत्र देने वाले बेंगलूरु के विधायकों से उनका कोई संबंध नहीं है। मेरे वरिष्ठ नेता होने के कारण वे मेरा सम्मान करते होंगे। यह सच है कि मुंबई में डेरा डाले एक असंतुष्ट विधायक ने उनसे संपर्क किया था। उस विधायक को छोडक़र अन्य किसी ने भी मुझसे संपर्क नहीं किया है। उन्होंने कहा कि त्यागपत्र देने के संबंध में स्पष्टीकरण देने के लिए स्पीकर ने सोमवार को समय दिया था लेकिन आंख की समस्या के कारण हाजिर होना संभव नहीं हो सका। इस बारे में उन्होंने स्पीकर को सूचित कर दिया था।

Santosh kumar Pandey
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned