मवेशियों को बाघ से बचाने के लिए हजारों एकड़ के जंगल में लगा दी आग

बंडीपुर राष्ट्रीय उद्यान में लगी भीषण आग के मामले में वन विभाग ने दो और आरोपियों को गिरफ्ता किया है। जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनकी पहचान हनुमंतय्या (70) और गोपय्या (6 0) के तौर पर हुई है।
ये दोनों आरोपी चामराजनगर जिला स्थित गुंडलपेट तालुक निवासी हैं।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 03 Mar 2019, 08:53 PM IST

दो आरोपी गिरफ्तार
बेंगलूरु. बंडीपुर राष्ट्रीय उद्यान में लगी भीषण आग के मामले में वन विभाग ने दो और आरोपियों को गिरफ्ता किया है। जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनकी पहचान हनुमंतय्या (70) और गोपय्या (6 0) के तौर पर हुई है। ये दोनों आरोपी चामराजनगर जिला स्थित गुंडलपेट तालुक निवासी हैं।

इससे पहले वन विभाग ने कल्लीपुर निवासी अरुण कुमार को भी इसी सिलसिले में गिरफ्तार किया था। गोपालस्वामी के नेतृत्व में वन विभाग की टीम ने दोनों आरोपियों को हिरासत में लिया और उसे अदालत में पेश किया। उन्होंने ने बताया कि आरोपियों ने इस घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है।

कथित तौर पर दोनों आरोपियों ने बाघ को भगाने के लिए पिछले 22 फरवरी को सूखी घास में आग लगाया था जो दावानल में तब्दील हो गया। इसमें हजारों एकड़ वनक्षेत्र जलकर खाक हो गया। दोनों जंगल के किनारे अपने मेवेशियों को चरा रहे थे और बाघ से बचाने के लिए आग लगा दी। आरोपियों पर वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 27, 29, 30, 31, 50 और 51 के तहत गिरफ्तार किया गया है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned