बीडीए के तीन अधिकारी सेवा से निलंबित

बीडीए को पहुंचाया 4.8 करोड़ का नुकसान

By: Santosh kumar Pandey

Published: 07 Sep 2020, 03:20 PM IST

बेंगलूरु. फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बेंगलूरु शहर विकास प्राधिकरण (बीडीए) के 5 भूखंडों का क्रय पत्र (सेल डीड) तैयार कर बीडीए को 4.8 करोड़ रुपए का नुकसान करने वाले प्राधिकरण के तीन अधिकारियों को सेवा से निलंबित कर दिया गया है।

इस मामले में बीडीए के सह सचिव राजू, सुपरवाइजर आर कुमार तथा प्रथम श्रेणी लिपिक मंजुलाबाई को बीडीए के आयुक्त डॉ एचआर महादेव ने नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा था।

लेकिन उनके जवाब संतोषप्रद नहीं होने के कारण आयुक्त ने उन्हेें निलंबित करने का आदेश दिया है।
वर्तुर ब्लॉक के काडुबिसनहल्ली गांव की सर्वे संख्या 26/१ में बीडीए ने 5 भूखंड विकसित किए थे।

कर्मचारियों पर आरोप है कि फर्जी जनरल पॉवर ऑफ एटोर्नी (जीपीए) के आधार पर इन पांच भूखंडों को अनसूया, सी नागभूषण, वरलक्ष्मी, जयलक्ष्मी तथा मस्तानय्या दामीनेमी को बेच दिया था। इसी मामले में लिप्त बीडीए के अन्य कर्मचारी एनबी जयराम तथा वी महादेवय्या को इससे पहले निलंबित किया जा चुका है।

403 कार्नर भूखंडों की नीलामी करेगी बीडीए
बेंगलूरु. अर्कावती, सर एम विश्वेश्वरय्या, जेपी नगर, बनशंकरी तथा ज्ञानभारती में स्थित 402 कार्नर भूखंडों की ई-नीलामी की जा रही है। बेंगलूरु विकास प्राधिकरण (बीडीए) के सूत्रों के अनुसार ई नीलामी 9 सितंबर से 3 अक्टूबर तक 6 चरणों में चलेगी। हर चरण में 70 कार्नर भूखंडों की नीलामी होगी।
इन भूखंडों की जियो मैपिंग के साथ समग्र विवरण बीडीए की वेबसाइट पर उपलब्ध है। इच्छु व्यक्ति देश विदेश कहीं से भी नीलामी में भाग ले सकते हैं। पहले चरण में 9 सितंबर से 25 सितंबर तक, दूसरे चरण में 10 से 28 सितंबर तक, तीसरे चरण में 11 से 29 सितंबर तक, चौथे चरण में 12 से 30 सितंबर तक, पांचवे चरण में 13 सितंबर से 1 अक्टूबर तक ७०-70 भूखंडों की क्रमानुसार नीलामी होगी। छठे चरण में 15 सितंबर से 3 अक्टूबर तक 52 भूखंडों की ई नीलामी की जाएगी।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned