बेलगावी चिडिय़ाघर में शुरू होगी बाघ सफारी

शहर के बाहरी इलाके में स्थित मिनी चिडिय़ाघर को टाइगर सफारी के रूप में विकसित किया जाएगा।
वन मंत्री सतीश जारकीहोली ने कहा कि चिडिय़ाघर को बाघ सफारी के रूप में उन्नत करने की परियोजना पर ५० करोड़ रुपए की लागत आएगी।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 07 Jan 2019, 05:27 PM IST

बेलगावी. शहर के बाहरी इलाके में स्थित मिनी चिडिय़ाघर को टाइगर सफारी के रूप में विकसित किया जाएगा। वन मंत्री सतीश जारकीहोली ने कहा कि चिडिय़ाघर को बाघ सफारी के रूप में उन्नत करने की परियोजना पर ५० करोड़ रुपए की लागत आएगी।

उन्होंने कहा कि कित्तूर रानी चेन्नम्मा मिनी चिडिय़ाघर लगातार लोकप्रियता के शिखर को छू रहा है और आगंतुकों की संख्या में संतोषजनक वृद्धि हो रही है। बाघ सफारी की स्थापना के लिए आवश्यक अनुमति प्राप्त की गई है और इसे केंद्रीय चिडिय़ाघर प्राधिकरण के प्रावधान के अनुसार विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चिडिय़ाघर के उन्नयन का पहला चरण मौजूदा चिडिय़ाघर की 1.8 5 किलोमीटर बाहरी दीवार का निर्माण है और इसे जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

बेलगावी में चिडिय़ाघर के विकास की जरूरत पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि चिडिय़ाघर के विकास के लिए एक व्यापक योजना लंबे समय से लंबित मांग थी। राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित चिडिय़ाघर में प्रस्तावित बाघ सफारी के लिए भारी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करने की क्षमता होगी।
उन्होंने कहा कि यहां बाघों को रखने के लिए एक अनुकूल माहौल भी है। उन्होंने कहा कि चिडिय़ाघर में मार्कण्डेय नदी से पेय जलापूर्ति सुनिश्चित करने का प्रस्ताव है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned