तिप्पेस्वामी भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल

भाजपा के वरिष्ठ नेता व चित्रदुर्गा जिले के मोलकालमूर के पूर्व विधायक एस. तिप्पेस्वामी अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए।

By: शंकर शर्मा

Published: 03 Mar 2019, 11:40 PM IST

 

बेंगलूरु. भाजपा के वरिष्ठ नेता व चित्रदुर्गा जिले के मोलकालमूर के पूर्व विधायक एस. तिप्पेस्वामी अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव ने उनको पार्टी ध्वज थमाकर उनका स्वागत किया। इसी दौरान भाजपा व जनता दल-एस के अनेक नेता व कार्यकर्ता भी कांग्रेस में शामिल हो गए। गुंडूराव ने कहा कि तिप्पेस्वामी के कांग्रेस में शामिल होने से पार्टी को और अधिक बल मिला है।

पिछले विधानसभा चुनाव में तिप्पेस्वामी को मोलकालमूर से टिकट नहीं देकर भाजपा ने उनके साथ गलत किया था। इस सीट से जीते भाजपा के बी. श्रीरामुलु ने क्षेत्र की तरफ पलटकर तक नहीं देखा है। पार्टी की विचारधारा व सिद्धांतों में विश्वास रखकर कांग्रेस में शामिल हुए तिप्पेस्वामी को पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी।


पूर्व मंत्री एच. आंजनेया ने कहा कि 7 मार्च को चित्रदुर्गा में कांग्रेस की विशाल परिवर्तन यात्रा रैली निकाली जाएगी और इस मौके पर तिप्पेस्वामी का सार्वजनिक अभिनंदन किया जाएगा। इस मौके पर तिप्पेस्वामी ने कहा कि चुनाव से पहले श्रीरामुलु ने कहा था कि मोलकालमूर से तिप्पेस्वामी को ही टिकट मिलेगा। पर वे अपनी बात से मुकर गए और खुद को ही उम्मीदवार बन गए।


उन्होंने कहा कि भाजपा ने मेरे साथ धोखा किया था। लिहाजा उन्होंने अपने मित्रों व कांग्रेस के नेताओं के साथ चर्चा करके कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का निर्णय किया है। केवल चित्रदुर्गा में ही नहीं बल्कि बल्लारी जिले के अपने परिचित नेताओं को भी कांग्रेस में शामिल करेंगे।

कलबुर्गी से जाधव को उतारेगी भाजपा: चिनचणसूर
बेंगलूरु. भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री बाबूराव चिनचणसूर ने दावा किया है कि लोकसभा चुनाव में कलबुर्गी (गुलबर्गा) लोकसभा सीट पर उमेश जाधव भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे। जाधव वर्तमान में चिंचोली विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक हैं। भाजपा उन्हें पार्टी में शामिल करने का दावा कर रही है। कलबुर्गी में लगातार दो बार से कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खरगे सांसद हैं।

कलबुर्गी में कहा कि आमचुनाव में पार्टी की जीत के लिए मंच तैयार कर लिया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने कोली समुदाय के साथ अन्याय किया है। उन्होंने कहा कि खरगे पिछले 50 सालों से राजनीति में हैं, लेकिन उन्होंने कोली समुदाय को अनुसूचित जनजाति वर्ग में शामिल किए जाने पर चुप्पी साध रखी है। चिनचणसूर ने कहा कि वे सत्ता के लिए भाजपा में नहीं आए हैं। उन्होंने कहा कि कोली समुदाय को अजजा में शामिल करने का भाजपा नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श किया गया है।

 

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned