Tobacco : कर्नाटक में हर दिन 140 लोगों की मौत

Tobacco : कर्नाटक में हर दिन 140 लोगों की मौत
Tobacco : कर्नाटक में हर दिन 140 लोगों की मौत

Nikhil Kumar | Updated: 19 Sep 2019, 06:53:29 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

Cancer और तंबाकूजनित अन्य बीमारियों से कर्नाटक में हर दिन 140 लोगों की मौत होती है। युवा वर्ग की बात करें तो हर घंटे 12 बच्चे और किशोर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से तंबाकू के संपर्क में आते हैं या इसका सेवन शुरू करते हैं। Global Adult Tobacco Survey (जीएटीएस) 2017 के अनुसार कर्नाटक में 15 वर्ष से ऊपर की आयु के 3 में एक पुरुष और 10 महिलाओं में एक महिला किसी ना किसी रूप में तंबाकू का सेवन करते हैं, यह चिंतित करने वाला विषय है।

- 90 फीसदी उपयोगकर्ता किशोरावस्था में शुरू करते हैं तंबाकू सेवन
- एनएसएस के 10 हजार स्वयंसेवक फैलाएंगे जागरूकता
- प्लेज फॉर लाइफ : तंबाकू मुक्त युवा अभियान का आगाज

बेंगलूरु.
Tobacco सेवन के बढ़ते खतरे को देखते हुए Bangalore University (बीयू) के National Service Scheme (एनएसएस) ने बुधवार को Narayana Health City और संबंध हेल्थ फाउंडेशन के सहयोग से तंबाकू नियंत्रण पर आयोजित कार्यशाला में प्लेज फॉर लाइफ : तंबाकू मुक्त युवा अभियान का आगाज किया गया।

अभियान के तहत तंबाकू विरोधी गतिविधियां आयोजित होंगी। वाद-विवाद प्रतियोगिता, पोस्टर प्रतियोगिता, प्रतिज्ञा और रैलियों के माध्यम से विद्यार्थियों को जागरूक किया जाएगा। नारायण हेल्थ सिटी के कैंसर सर्जन और वॉयस ऑफ टोबैको विक्टिम्स के संरक्षक डॉ. विवेक शेट्टी ने कहा कि कर्नाटक में 1.03 करोड़ लोग तंबाकू का प्रयोग करते हैं। इनमें 90 फीसदी Users अपनी किशोरावस्था में तंबाकू का सेवन शुरू करने लगते हैं। World Health Organization के आंकड़ों के अनुसार विश्व स्तर पर 1.65 बच्चे पांच वर्ष की आयु से पहले दूसरों द्वारा धूम्रपान से उत्पन्न धुएं से श्वसन संक्रमण के कारण मर जाते हैं। कम उम्र के लोगों में कैंसर होने का पता चल रहा है और इसका एक कारण तंबाकू उत्पादों का व्यापक सेवन है। तंबाकू सेवन की लत छोडऩे की दर बहुत कम है। इसलिए अधिक से अधिक प्रयास Youth में तंबाकू सेवन की दर कम करने की दिशा में होना चाहिए।

बीयू के कुलपति Dr. K. R. Venugopal ने कहा कि बीयू के पास 10 हजार स्वयंसेवकों वाली 104 एनएसएस इकाइयां हैं और सभी इकाइयों की सक्रिय भागीदारी से समाज में सकारात्मक सामाजिक व्यवहार परिवर्तन होगा। कार्यशाला के दौरान शिक्षकों और छात्रों ने तंबाकू विरोधी प्रतिज्ञा भी ली।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned