scriptTraining given to Railway and BMRCL officers | रेलवे और बीएमआरसीएल अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण | Patrika News

रेलवे और बीएमआरसीएल अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण

चिकित्सा आपात स्थितियों से निपटने की तैयारी

बैंगलोर

Published: December 25, 2021 07:12:14 am

बेंगलूरु. मेडिकल इमरजेंसी में कोई क्या कर सकता है-जैसे किसी को कार्डिक अरेस्ट हुआ है, किसी का अभी-अभी पतन हुआ है, ऐसा लगता है कि कोई मर गया है, कोई घुट रहा है, आदि चिकित्सा सहायता सुनिश्चित होने तक व्यक्ति की मदद करने के उद्देश्य से कोई बिना घबराए स्थिति को कैसे संभालता है। कई बार, हर मिनट कीमती होता है और यह तय नहीं कर सकते है कि व्यक्ति की मृत्यु होगी या वह जीवित रहेगा। लगातार यातायात की भीड़ के कारण, दुर्भाग्य से बेंगलूरु में एक रोगी को अस्पताल तक ले जाने में या चिकित्सा सहायता पहुंचाने में बहुत अधिक समय लगता है।
इस चुनौती का समाधान करने के लिए, सिटिजन्स फॉर सिटिजन्स (सी4सी) ने 2 प्रमुख सरकारी विभागो दक्षिण पश्चिम रेलवे और बीएमआरसीएल के प्रमुख अधिकारियों को डॉ. दिनाकर, वाइटल्स हेल्थकेयर के प्रशिक्षण निदेशक ने प्रशिक्षण दिया।
दक्षिण पश्चिम रेलवे के बहु अनुशासनिक मंडल प्रशिक्षण संस्थान (एमडीडीटीआई) में सुबह 110 मिनट के सत्र के दौरान मंडल रेल प्रबंधक श्याम सिंह और एमडीडीटीआई के निदेशक सर्वज्ञ बैरवा के नेतृत्व में लगभग 100 अधिकारियों ने भाग लिया और मूल बातें सीखीं। कार्डियो पल्मोनरी रिससिटेशन (सीपीआर), ऑटोमेटेड एक्सटर्नल डिफाइब्रिलेटर (एईडी) के उपयोग के साथ-साथ घुटन, सांप के काटने, कुत्ते के काटने, जलने, प्राथमिक चिकित्सा बॉक्स की सामग्री और उपयोग आदि की स्थितियों से निपटने के तरीके बताए। मंडल रेल प्रबंधक श्याम सिंह ने कहा, "मैं प्रशिक्षण से बहुत खुश हूं और हमें अपने सभी अधिकारियों के लिए इस तरह के और प्रशिक्षण की जरूरत है। सर्वज्ञ बैरवा ने कहा, "हमारे स्टेशनों पर हर दिन लाखों की संख्या में लोग आते हैं और हम आज के प्रशिक्षण से मिली सीख को जरूरत पडऩे पर उन पर उपयोग कर सकते हैं।
दोपहर में बैय्यप्पनहल्ली में बीएमआरसीएल के प्रशिक्षण संस्थान सभागार में, बीएमआरसीएल के कार्यकारी निदेशक शंकर, सीपीआरओ बी.एल.यशवंत चव्हाण के नेतृत्व में लगभग 100 कार्यकारी अधिकारियों और वरिष्ठ अधिकारियों ने लगभग 150 मिनट तक चले इस प्रशिक्षण में भाग लिया। शंकर ने कहा, "जिस तरह से डॉ. दिनाकर ने हमें प्रशिक्षित किया है, उससे मैं वास्तव में बहुत खुश हूं, और यह जीवन भर हमारी स्मृति में अंकित रहेगा।"
दोनों सत्रों में, सिर की चोट, फैक्चर और गर्दन की चोट के मामलों में प्राथमिक उपचार पट्टी के रूप में एक साधारण त्रिकोणीय कपड़े का उपयोग कैसे किया जा सकता है, इसका प्रदर्शन डॉ. दिनाकर ने किया। सीपीआर के सभी पहलुओं को एक पुतले के साथ प्रदर्शित किया गया। कई प्रतिभागियों ने प्रशिक्षण पर प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि वे अब सभी प्रकार की चिकित्सा आपात स्थितियों को संभालने के लिए अधिक आत्मविश्वास महसूस करते हैं।
संस्थापक और संयोजक राजकुमार दुग्गड़ ने कहा, "हम चाहते हैं कि बेंगलूरु को सभी के लिए एक सुरक्षित स्थान बनाने के उद्देश्य से अधिक से अधिक लोग इन कौशलों में प्रशिक्षित हों। सी ४ सी ने दक्षिण पश्चिम रेलवे और बीएमआरसीएल दोनों से अपने सभी कर्मचारियों, अधिकारियों आदि को प्रशिक्षित करने का अनुरोध किया है और सभी आवश्यक प्राथमिक चिकित्सा सामग्री और यहां तक कि सभी स्टेशनों पर उपलब्ध कराने के लिए भी अनुरोध किया है।
रेलवे और बीएमआरसीएल अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण
रेलवे और बीएमआरसीएल अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानखतरनाक हुई तीसरी लहर, जांच में हर पांचवां व्यक्ति कोरोना संक्रमितIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लानभीषण लपटों से भी नहीं डरे ग्रामीण, अपनी जान पर खेलकर पड़ौसी को बचाया, Videoमशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, सीएम ममता बनर्जी ने जताया शोक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.