आत्मिक शांति पाने का प्रयास करें: आचार्य देवेंद्रसागर

मनुष्य को हमेशा ही सच्चाई के मार्ग पर चलते हुए भाईचारा बनाए रखना चाहिए व प्रेम के मार्ग पर चलकर सेवा करनी चाहिए।

बेंगलूरु. मनुष्य को हमेशा ही सच्चाई के मार्ग पर चलते हुए भाईचारा बनाए रखना चाहिए व प्रेम के मार्ग पर चलकर सेवा करनी चाहिए। उससे ही मन को शांति प्राप्त होती है। आत्मिक शांति के अभाव में मनुष्य का जीना बेकार है। इसलिए धन के पीछे न दौडक़र आत्मिक शांति पाने का प्रयास करना चाहिए। यह विचार आचार्य देवेंद्रसागर ने व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि आज हम एक ऐसे युग में जी रहे हैं, जब इंसान ने विज्ञान और यांत्रिकी के क्षेत्र में अभूतपूर्व उन्नति कर ली है। भयंकर बीमारियों के उपचार के लिए उचित औषधियों का निर्माण किया जा चुका है। इन सब खोजों से मानव जाति को सुख एवं शांति मिलनी चाहिए थी लेकिन इतना सब कुछ होने के बावजूद आज इंसान प्रसन्न नहीं है। इसका तात्पर्य यह है कि हम कहीं पर गलती कर बैठे हैं।

उन्होंने कहा कि मनुष्य जब इस संसार में जन्म लेता है तो उसके पास कुछ भी नहीं होता, इसी तरह से जब आत्मा शरीर छोड़ देती है तो उस समय भी मनुष्य के पास कुछ नहीं होता। इसलिए धन न जोडक़र अपने बच्चों को चरित्रवान बनाने पर बल देना चाहिए।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned