दो पुलिस अफसरों को मिली राहत

दो पुलिस अफसरों को मिली राहत
bangalore photo

Shankar Sharma | Publish: Feb, 09 2016 11:21:00 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

तंजानियाई छात्रा से बदसलूकी के मामले में निलंबित किए गए दो पुलिस अधिकारियों को मंगलवार को राज्य प्रशासनिक पंचाट से फौरी तौर पर राहत मिल गई। पंचाट ने दोनों के निलंबन पर रोक लगा दी

बेंगलूरु. तंजानियाई छात्रा से बदसलूकी के मामले में निलंबित किए गए दो पुलिस अधिकारियों को मंगलवार को राज्य प्रशासनिक पंचाट से फौरी तौर पर राहत मिल गई। पंचाट ने दोनों के निलंबन पर रोक लगा दी।

शहर के यशवंतपुर उप संभाग के सहायक पुलिस आयुक्त ए एन पिस्से और सोलदेवनहल्ली थाने के निरीक्षक प्रवीण बाबू को ड्यूटी में लापरवाही बरतने और मामले की जांच सही तरीके से नहीं करने के कारण पिछले सप्ताह निलंबित किया गया था। दोनों ने पंचाट में निलंबन आदेश को चुनौती दी थी।

गारैतलब है कि विगत 31 जनवरी की शाम हेसरघट्टा इलाके में एक सूडानी छात्र के कार से कुचलकर एक महिला की मौत के बाद गुस्साई भीड़ ने कार जलाने के साथ ही कार में सवार लोगों की पिटाई की थी। इस घटना के आधे घंटे बाद वहां से गुजर रही तंजानियाई छात्रा से भी भीड़ ने बदलसलूकी की थी।

छात्रा का आरोप था कि मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने भी उसकी मदद नहीं की। इस घटना के दो दिन बाद मीडिया में उजागर होने के बाद आनन-फानन में सरकार ने पुलिस को सख्त कार्रवाई करने का निर्देश देने के साथ ही पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए थे। मामले के अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर उछलने के बाद सरकार ने अतिरिक्त पुलिस आयुक्त स्तर के अधिकारी की जांच रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए पिस्से और बाबू के अलावा चार पुलिस कांस्टेबलों को भी निलंबित कर दिया था। इस मामले में 11 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned