शहरी निकाय चुनाव: हार के कारणों पर मंथन करेगी भाजपा

शहरी निकाय चुनाव: हार के कारणों पर मंथन करेगी भाजपा

Shankar Sharma | Publish: Sep, 06 2018 11:17:40 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

शहरी निकाय चुनाव में अपेक्षित परिणाम नहीं आने के कारणों के संदर्भ में भाजपा आत्मावलोकन करेगी।

बेंगलूरु. शहरी निकाय चुनाव में अपेक्षित परिणाम नहीं आने के कारणों के संदर्भ में भाजपा आत्मावलोकन करेगी। प्रदेश अध्यक्ष बी.एस. येड्डियूरप्पा ने ज्लद ही बैठक बुलाने का निर्र्णय किया है। स्थानीय नेताओं से स्पष्टीकरण मांगे गए हैं।शहरी निकाय चुनाव में कड़े संघर्ष के बावजूद भाजपा दूसरे स्थान पर रही है।

येड्डियूरप्पा पार्टी के पिछडऩे के कारण तलाश रहे हैं। उन्होंने पार्टी के मौजूदा व पूर्व विधायकों के कामकाज का मूल्यांकन करने का निर्णय किया हैं। स्थानीय नेताओं से तमाम विवरण मांगे गए हैं। येड्डियूरप्पा ने त्रिशंकु जनादेश वाले निकायों में गठजोड़ करके सत्ता में आने के संबंध में जिला स्तरीय नेताओं से रिपोर्ट पेश करने के भी आदेश दिए हैं।

मैसूरु, तुमकूरु नगर निगम सहित 31 शहरी निकायों में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। उन्होंने हिदायत दी कि इस बारे में देर करने पर दूसरे दल लाभ उठा सकते हैं, लिहाजा पहले ही सचेत होकर सत्ता हासिल करने के कदम उठाए जाएं। भाजपा ९२९ सीटों के साथ १०५ निकायों के चुनाव में दूसरे स्थान पर रही थी।

पांचवें दिन भी जारी रहा भाजपा का धरना
हुब्बल्ली. राज्य सरकार से हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम की बकाया 150 करोड़ रुपए पेंशन राशि के भुगतान तथा जुड़वां शहर के लिए केंद्र सरकार की ओर से दिए गए सीआरएफ अनुदान का इस्तेमाल करने का आग्रह कर शनिवार से शुरू भाजपा का धरना प्रदर्शन बुधवार को पांचवें दिन भी जारी रहा।


शहर के मिनी विधानसौधा के सामने धरना-प्रदर्शन कर राज्य सरकार के विरोध में नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त किया। पिछली सिध्दरामय्या के नेतृत्व की सरकार ने महानगर निगम को 150 करोड़ रुपए की राशि मंजूर करने का वादा कर मुकर गई। मौजूदा गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने भी महानगर निगम की पेंशन राशि के बारे में अनदेखी कर रही है। इतना ही नहीं केंद्र सरकार ने जुड़वां शहर के लिए सीआरएफ अनुदान मंजूर किया है परन्तु इस अनुदान का इस्तेमाल नहीं करके जुड़वां शहर की अनदेखी कर रही है। राज्य सरकार को तुरन्त महानगर निगम की पेंशन राशि तथा केंद्र सरकार की ओर से जुड़वां शहर के लिए मंजूर अनुदान का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसे नहीं करने पर आगामी दिनों में उग्र आंदोलन किया जाएगा।


पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टर के नेतृत्व में बुधवार को दिए धरने में विधान परिषद सदस्य प्रदीप शेट्टर, एम. नागराज, भाजपा महानगर जिलाध्यक्ष नागेश कलबुर्गी, महानगर निगम पार्षद शिवु मेणसिनकाई, वीरण्णा सवडी, बीरप्पा खंडेकर, महेश बुर्ली, लक्ष्मी उप्पार, बालु मगजिकोंडी, सिध्दु मोगलिशेट्टर, वीरेश संगलद, वसंत नाडजोशी, राजु काले, कृष्णा गंडगालेकर, रंगा बद्दी समेत कई उपस्थित थे।

Ad Block is Banned