scriptVastu expert's murder case | पोस्टमार्टम की जांच में मिले निर्मम हत्या के सबूत...शरीर पर 42 जगह हमले, 2-3 इंच तक घाव | Patrika News

पोस्टमार्टम की जांच में मिले निर्मम हत्या के सबूत...शरीर पर 42 जगह हमले, 2-3 इंच तक घाव

किम्स अस्पताल में बुधवार को हुआ पोस्टमार्टम..बड़ी संख्या में मौजूद रहे लोग...शरीर को एक फुट तक काटा गया ... आरोपी महांतेश को चार घंटे में ही रामदुर्ग से पकड़ा

बैंगलोर

Published: July 06, 2022 08:05:56 pm

हुब्बल्ली. शहर में वास्तु विशेषज्ञ के रूप में प्रसिद्ध चंद्रशेखर गुरुजी की मंगलवार हो हुई हत्या के बाद बुधवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उन्हें किस निर्मम तरीके से मारा गया है। पोस्टमार्टम की जांच में पाया गया कि हत्यारों ने गुरुजी के शरीर को दो बार 12 इंच जितना काटा है, चाकू दो-तीन इंच भीतर तक घाव किया है। एक ही जगह पर दो-तीन बार वार किया है। कुल 42 जगहों पर चाकू से वार किया है। किम्स में विधि विज्ञान विभाग के डॉ. सुनिल बिरादार ने पोस्टमार्टम किया। मुर्दाघर के सामने बड़ी संख्या में गुरुजी के परिजन, रिश्तेदार तथा कर्मचारी एकत्रित हुए थे।
पुलिस ने चार घंटे में ऐसे किया गिरफ्तार
चंद्रशेखर गुरुजी हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार करने में रामदुर्ग पुलिस की ओर से की गई त्वरित कार्रवाई सफल रही। 22 पुलिस कर्मियों के चार दस्ते गठित कर बुद्धिमत्ता को प्रदर्शित किया। हुब्बल्ली में हत्या कर फरार होने के बाद भी आरोपियों ने मोबाइल फोन स्वीच ऑफ नहीं किया था। लगातार फोन पर बात कर रहे थे। इससे हुब्बल्ली पुलिस को दोनों के मोबाइल लोकेशनों का पता लागने में आसानी हुई। रामदुर्ग पुलिस को भी इनकी गतिविधियों के बारे नियमित जानकारी दी गई। तुरन्त हरकत में आए बेलगावी जिला पुलिस अधीक्षक संजीव पाटील ने 22 पुलिस कर्मियों के चार दस्तों का गठन किया।
रामदुर्ग कस्बे से सटे राज्य राजमार्ग पर पुलिस के दस्ते पहरे पर खड़े हो गए। कस्बे के संगोल्ली रायण्णा सर्कल तथा बसवेश्वर सर्कलों में दो-दो ट्रैक्टरों को सडक़ के बीच में खड़ा किया था। इस मार्ग से जाने वाले हर वाहन को रोककर तलाशी ली। हुब्बल्ली पुलिस ने आरोपियों की कार नंबर का पता लगा लिया था, जो कार्रवाई को और अधिक आसान किया। इसके बावजूद बीच रास्ते में वाहन बदलने की संभावना होने के कारण पुलिस ने सभी वाहनों की गहन जांच की।
रामदुर्ग से दस किलोमीटर पहले ही मुल्लूरु घाट आता है। आरोपियों का वाहन इस घाट को पार करके आने का ही इंतजार कर रही पुलिस ने जेसीबी की मदद से सडक़ रोका। इस घाट सडक़ के दाएं और बाएं कोई मार्ग नहीं है। फरार होने के लिए भी यू टर्न लेना चाहिए। इसके लिए भी मौका नहीं देते हुए पुलिस ने कार के पीछे भी ट्रक्टर खड़ा कर रास्ता बंद किया। इसके चलते पुलिस ने आसानी से आरोपियों को धर दबोचा।
मुंबई जाने की थी योजना, पहचान छुपाने के लिए कार में बदले कपड़े
वास्तु विशेषज्ञ चंद्रशेखर गुरुजी की हत्या के चार घंटों में ही विद्यानगर थाना पुलिस ने दो आरोपियों को बेलगावी के रामदुर्ग में गिरफ्तार करने में सफल हुई। शहर के उणकल के श्रीनगर क्रास स्थित एक होटल में मंगलवार दोपहर 12.24 बजे के करीब गुरुजी की हत्या कर कार में फरार हुए आरोपियों को शाम 4 बजे के करीब रामदुर्ग में गिरफ्तार किया। हुब्बल्ली-धारवाड़ पुलिस आयुक्तालय की पुलिस के कार्य की लोगों ने सराहना की है। आरोपी महांतेश शिरूर ने अपने नाम पर स्थित कुछ दस्तावेजों को लेकर आया था, हत्या कर फरार होने के दौरान उन्हें होटल में ही छोडकऱ गया था। तुरन्त कार्यप्रवृत्त हुए पुलिस आयुक्त ने लाभूराम, शहर अपराध विभाग के कर्मचारियों को निर्देश देकर त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए।
आरोपी की पत्नी हिरासत में
पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपियों का पीछा किया था। धारवाड़ मार्ग से होते हुए बेलगावी से मुंबई को रवाना होने की योजना बनाई थी। पहचान छुपाने के लिए कार में ही कपड़े बदले थे। इस दौरान पुलिस ने महांतेश की पत्नी वनजाक्षी को हिरासत में लेकर जानकारी जुटाई थी।
पुलिस ने होटल के पास लगे सीसीटीवी कैमरा की जांच करने पर आरोपियों के फोटो तथा इस्तेमाल की गई कार की संख्या, कौन सी कार इस बारे में जानकारी संग्रह कर हावेरी, उत्तर कन्नड़, गदग, बेलगावी जिले को रवाना किया। प्रमुख स्थलों तथा जिले की सामी क्षेत्रों में बैरिकेड लगाकर वाहनों की जांच की। धारवाड़-बेलगावी राष्ट्रीय राजमार्ग पर ही कार का पता लगाने के लिए पुलिस कर्मियों को नियुक्त किया था। इसी दौरान कंट्रोल रूम कर्मचारी वायरलेस के जरिए कार्रवाई में जुटे कर्मचारियों को मोबाइल लोकेशन की पलपल की जानकारी दे रहे थे।
आखिर क्या छुपा रही है पुलिस
पुलिस के गिरफ्तार कर के लाने के दौरान स्थानीय लोगों को आरोपियों ने कहा थी कि जाइए पुलिस को हमने ही आने के लिए कहा है। उनकी यह बात संदेह का कारण बनी है। आरोपीलघटगी तालुक दुम्मवाड़ निवासी महांतेश शिरूर तथा मंजुनाथ मरेवाड दोनों सरल वास्तु संस्था के पूर्व कर्मचारी हैं। महांतेश की पत्नी वनजाक्षी ने भी इसी संस्था में कार्य किया था।
पुलिस आरोपियों को खुफिया जगह पर रखकर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने मंगलवार रात्रि से बुधवार सुबह तक आरोपियों से गहन पूछताछ की है। हत्या के कारण, इसमें और किसका हाथ है आदि की जांच कर रही है। पुलिस आयुक्त लाभूराम खुद दोनों आरोपियों से पृथक तौर पर पूछताछ कर रहे हैं। दोनों ने वित्तीय कारोबार को लेकर हत्या करने की बात स्वीकार की है। इसी बीच मंजूनाथ ने गुरुजी पर जाति निंदा का आरोप लगाया है। पूछताछ के दौरान आरोपियों के साथ चिन्हित और कुछ जनों को बुलवाकर पुलिस पूछताछ कर रही है। इनसब के बीच आरोपियों ने ही विद्याानगर पुलिस थाने को कॉल करके अपने ठिकाने की जानकारी देकर आत्मसमर्पण करने की बात कही थी। आरोपियों के ही आत्मसमर्पण करने के बाद भी इसे छुपाकर खुद गिरफ्तार करने की बात कही है, जो चर्चा का कारण बना है।
पांच दिन पहले ही दिया था संकेत
चंद्रशेखर गुरुजी की हत्या मामले के आरोपी महांतेश शिरूर ने पांच दिन पूर्व ही गुरुजी की हत्या का इशारा दिया था। आरोपी ने पांच दिन पूर्व ही अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट डाला था। फेसबुक पर भागवत्गीता श्लोक के पोस्ट को शेयर किया था। भगवान, आपने वादा किया है कि आप दुष्टों का नाश करने और अधर्म के प्रबल होने पर धर्म को फिर से स्थापित करने के लिए आएंगे। देरी क्यों, प्रभु? भगवान जल्द से जल्द अवतार लें। संभवमी युगे युगे... कहकर लिखा है। इस पोस्ट को फेसबुक पर शेयर करने के पांच दिनों में ही आरोपी ने गुरुजी की हत्या की है।
चैनल बंद को बद शुरू किया कॉल सेंटर
पुलिस ने बताया कि चंद्रशेखर गुरुजी की ओर से संचालित सरल जीवन वास्तु चैनल को दो-तीन वर्ष से बंद किया है परन्तु मुंबई, बेलगावी, हुब्बल्ली के आईटी पार्क में सरल जीवन कॉल सेंटर कार्यरत हैं, जिनमें दो हजार से अधिक कर्मचारी कार्य कर रहे हैं परन्तु दो माह से कर्मचारियों को सही तौर पर वेतन नहीं देने के चलते कुछ ने इस्तीफा दिया है। इन सबके बीच ही आरोपी महांतेश ने बंद पड़े चैनल को खुद चलाने के बारे में गुरुजी से चर्चा की थी परन्तु इस पर गुरुजी के सहमत नहीं होने पर विवाद हुआ था।
गुरुजी की बेनामी संपत्ति?
पता चला है कि गुरुजी के राजनेताओं, गणमान्यों, उद्यमियों के साथ अच्छे संबंध थे। मुंबई, बागलकोट, बेलगावी, धारवाड़ जिलों में हजारों करोड़ रुपए की संपत्ति बनाई थी। हुब्बल्ली के उणकल, गोकुल रोड, केश्वापुर, सुल्ला रोड पर भी भूखण्ड थे। इसके अलावा बेनामी संपत्ति भी थी।

पोस्टमार्टम की जांच में मिले निर्मम हत्या के सबूत...शरीर पर 42 जगह हमले, 2-3 इंच तक घाव
पोस्टमार्टम की जांच में मिले निर्मम हत्या के सबूत...शरीर पर 42 जगह हमले, 2-3 इंच तक घाव
पोस्टमार्टम की जांच में मिले निर्मम हत्या के सबूत...शरीर पर 42 जगह हमले, 2-3 इंच तक घावआरोपी की पत्नी वनजाक्षी ने कहा...
मेरे पति ने की गलती की लेकिन हत्या की वजह क्या मुझे पता नहीं
शहर में बुधवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरोपी महांतेश शिरूर की पत्नी वनजाक्षी ने कहा कि चंद्रशेखर गुरुजी बहुत अच्छे व्यक्ति थे। उनकी हत्या करने के साथ मेरे पति ने गलती की है परन्तु हत्या के लिए क्या कारण हैं इस बारे में जानकारी नहीं है। वित्तीय मामले को लेकर हमारे और गुरुजी के बीच कोई विवाद नहीं था। अपार्टमेंट मेरे नाम पर है कहना गलत है। बैंक में ऋण लेकर फ्लैट खरीदा है।
उन्होंने कहा कि वे वर्ष 2005 में सरल जीवन संस्था में शामिल हुईं थी। वर्ष 2019 में मुंबई के लिए तबादला करने के कारण इस्तीफा दिया था। उनके पति ने भी वर्ष 2016 में काम छोड़ा था। क्यों छोड़ा था इस बारे में पता नहीं है। पति के नाम पर गुरुजी के संपंत्ति करने के बारे में हमें जानकारी नहीं है।
वनजाक्षी ने कहा कि पिछले चार-पांच दिनों से उनके पति घर नहीं आए थे। कॉल करने पर काम पर होने की बात कही थी परन्तु मंगलवार सुबह टीवी पर देखने के बाद ही गुरुजी की हत्या करने के बारे में पता चला। इसके बाद विद्यानगर थाना पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया तो वहां चली गई जो जानती थी वह सब बताया है।

पोस्टमार्टम की जांच में मिले निर्मम हत्या के सबूत...शरीर पर 42 जगह हमले, 2-3 इंच तक घाववीरशैव लिंगायक परम्परा के तहत किया गुरुजी का अंतिम संस्कार
हुब्बल्ली. चंद्रशेखर गुरुजी का अंतिम संस्कार सुल्ला रोड से शिवप्रभु लेआउट स्थित उन्हीं के खेत में बुधवार शाम को वीरशैव लिंगायत परम्परा के विधि-विधानों के तहत किया गया। गुरुजी के पार्थिव शरीर को वैकुंठ रथ वाहन में शोभायात्रा के जरिए सुल्ला रोड से शिवप्रभु लेआउट स्थित उन्हीं के खेत लाया गया।
शहर के विभिन्न इलाकों के 11 पुरोहितों ने अंतिम संस्कार की तैयारी की थी। पोस्टमार्टम में देरी के कारण अंतिम संस्कार स्थल पर ही अंतिम दर्शन की व्यवस्था की गई थी। वीरशैव लिंगायत परम्परा के अनुसार शव को बिठाकर अंतिम संस्कार किया जाता है परन्तु गुरुजी का पोस्टमार्टम कर लाश को प्लास्टिक से पैक करके देने के कारण लेटा कर अंतिम संस्कार किया गया। मंत्री शंकरपाटील मुनेनकोप्प ने गुरुजी के पार्थिव शरीर के दर्शन कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar News: तेज प्रताप भी बन सकते हैं मंत्री, बिहार में 16 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तारBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.