विश्वकर्मा जयंती धूमधाम से मनाने का निर्णय

विश्वकर्मा जयंती धूमधाम से मनाने का निर्णय

Shankar Sharma | Publish: Sep, 07 2018 10:07:38 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

जिला प्रशासन, जिला पंचायत तथा कन्नड़ एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में विश्वकर्मा जयंती उत्सव 17 सितम्बर को धूमधाम से मनाया जाएगा।

धारवाड़. जिला प्रशासन, जिला पंचायत तथा कन्नड़ एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में विश्वकर्मा जयंती उत्सव 17 सितम्बर को धूमधाम से मनाया जाएगा। अपर जिलाधिकारी इब्राहिम मैगूर ने कहा कि जिले के संघ-संस्थाओं के प्रतिनिधि तथा समाज के सदस्यों को अधिक संख्या में भाग लेकर कार्यक्रम को सफल बनाना चाहिए। धारवाड़ में गुरुवार को जिलाधिकारी कार्यालय के सभा भवन में उत्सव की पूर्व तैयारी बैठक की अध्यक्षता कर बोल रहे थे।


उन्होंने कहा कि सरकार के निर्देशनुसार जयंती उत्सवों मनाया जा रहा है। 17 सितम्बर की सुबह 10 बजे विश्वकर्मा जयंती के उपलक्ष्य में होसयल्लापुर कसबागौडऱ गली के मौनेश्वर मंदिर से शोभायात्रा निकाली जाएगी। शोभायात्रा में तीन जानपद कला समूह भाग लेंगे।

दोपहर 12 बजे कर्नाटक विद्यावर्धक संघ के सभा भवन में कार्यक्रम होगा। इस अवसर पर संगीत समारोह का आयोजन किया गया है। बाद में विशेष व्याख्यान होगा। कन्नड़ एवं संस्कृति विभाग के सहायक निदेशक एस.के. रंगण्णवर ने अतिथियों का स्वागत कर कार्यक्रम का संचालन किया। समाज के नेता वसंत अर्काचार, मनोहर लक्कुंडी, एम.वी. हडगली, काळप्पा बडिगेर, वसंत किल्लेद, कस्तूरी बडिगेर, शंकर अर्कसाली, सुरेश बडिगेर आदि उपस्थित थे।

शांति और क्षमा का पर्व है पर्युषण
बेंगलूरु. सीमंधर शांतिसूरी जैन ट्रस्ट, वीवीपुरम के तत्वावधान में आचार्य चंद्रभूषण सूरीश्वर ने कहा कि पर्युषण पर्व शांति एवं क्षमा का पर्व है। उन्होंने कहा कि सालभर में हुए छोटे से छोटे जीव के साथ मन, वचन एवं काया द्वारा खराब एवं दुख वर्तन की क्षमा मांगने का अनमोल पर्व पर्युषण पर्व है। रिश्तों में बनने वाली दरारें पूरने के लिए यह पर्व है। इस पर्व को प्राप्त कर अपने मन में रही द्वेष, तिरस्कार एवं क्रोध की गांठों को पिघलाने की क्रिया करनी है।

आध्यात्मिक सप्ताह कार्यक्रम शुक्रवार से

विजयपुर. जिले के कन्नूर मार्ग स्थित शांतिकुटीर आश्रम में शुक्रवार से क्षेत्र के जाने माने संत गणपतराव महाराज की 110वीं जयंती के अवसर पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। सप्ताह भर आयोजित कार्यक्रम में रेवण सिध्देश्वर शिवाचार्य स्वामी, पद्मश्री इब्राहिम सुतार सहित अनेक गणमान्य प्रवचन व कीर्तन पेश करेंगे।

Ad Block is Banned