मतदाताओं ने तैयार किया नागरिक घोषणा पत्र

मतदाताओं ने तैयार किया नागरिक घोषणा पत्र

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Apr, 23 2018 05:42:38 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

रिहायशी इलाकों को पब और बार से मुक्त करने की मांग

बेंगलूरु. इंदिरा नगर, सीवी रमन नगर और शांति नगर के मतदाताओंं ने इन निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लडऩे वाले राजनीतिक दलों को देने के लिए नागरिक घोषणा पत्र तैयार किया है। इसमें जिम्मेदार नागरिकता को बढ़ावा देकर इलाके में पारिस्थितिकी तंत्र को सुधारने और क्षेत्र की आवासीय प्रकृति को बरकरार रखते वहां खुले पब और बार बंद करने की मांग की हैं।

घोषणापत्र ने अगले छह महीने में आबकारी, क्षेत्रीय और अग्नि सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने वाले सभी पब और बार बंद करने के आदेश जारी कराने की मांग की गई है। लोगों ने जनप्रतिनिधियों से बीबीएमपी की वार्ड समितियों में शामिल होने को कहा है। घोषणा पत्र में सभी घरों में वर्षा जल संचय इकाइयां स्थापित करने, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन प्रणाली का स्व-नियमन और प्रत्येक वार्ड में कम से कम तीन पूरी तरह कार्यशील शुष्क अपशिष्ट संग्रह केंद्र शुरू करने को कहा है। क्षेत्रीय लोगों ने पूर्व लोकायुक्त न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) संतोष हेगड़े और शहरी विशेषज्ञ वी रविचंदर के निर्देशन में यह चार्टर तैयार किया है। स्थानीय लोग आम आदमी पार्टी (एएपी) के उम्मीदवार मोहन दशारी (सीवी रमन नगर) और रेणुका विश्वनाथन (शांति नगर) के साथ अनेक राजनीतिक दलों के उम्मीदावारों से शीघ्र मुलाकात करेंगे। महापौर राम संपत राज कांग्रेस से सीवी रमन नगर निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं।

---------------

110 गांवों को अब भी पानी का इंतजार
बेंगलूरु. वर्ष 2007 मेंं बेंगलूरु के 110 गांवों को कावेरी जल उपलब्ध कराने वादे अब तक पूरे नहीं हो पाए हैं। मात्र दस गांवों में ही कावेरी का जल पहुंचाने का काम पूरा हो सका है। बेंगलूरु जल आपूर्ति और मल निस्तारण बोर्ड में कर्मचारियों की कमी इसका प्रमुख कारण है। सूत्रों ने कहा कि बोर्ड में वॉल्वमेन, मीटर रीडर और जल निरीक्षक तक नहीं हैं। अनुबंध पर कर्मचारियों को रखने के लिए निविदा आमंत्रित की गई हैं। विभाग के अभियंताओं ने बताया कि 15 गांवों में जल आपूर्ति आयोग के शुरुआती कार्यों को पूरा कर लिया गया है।

इनमें हेरोहोल्ली, वल्लभनगर, सोनेनहल्ली, होरमावु, सिद्धपुर के हिस्से, दासरहल्ली, चल्लकेरे, कुडलू, नागनाथपुर, परप्पन अग्रहार, गणकल्लू, उत्तरहल्ली के हिस्से, तुबरहल्ली, बेगुर और हरलूर शामिल हैं। एक अभियंता ने कहा कि परीक्षण भी किए गए और पाइपलाइनों का हाइड्रोलॉजी परीक्षणों किया गया। अब जल आपूर्ति शुरू करना ही शेष है, कर्मचारियों की अनुबंध पर नियुक्ति के बाद सप्लाई शुरू हो जाएगी। बोर्ड केआर पुरम को जल आपूर्ति नियमित करने के लिए सावधानी बरत रहा है। स्थानीय नेताओं के दबाव में वर्ष 2012 में लाभार्थी पूंजीगत योगदान एकत्र किए बिना जलापूर्ति योजना की शुरुआत की गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned