रगड़कर रख देंगे हम, गंगापुर से बेंगलूरु तक

पितलिया मामला: भाजपा विधायक जोगेश्वर गर्ग और विहिप नेता जगदीश झंवर की कथित बातचीत का ऑडियो वायरल

By: Chandra Prakash sain

Published: 05 Apr 2021, 03:38 PM IST

बेंगलूरु/भीलवाड़ा. सहाड़ा विधानसभा सीट के उपचुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार लादूलाल पितलिया की नामांकन वापसी के पीछे सामने आया दबाव का मामला तूल पकड़े हुए है। सोशल मीडिया पर रविवार को भाजपा विधायक जोगेश्वर गर्ग और विश्व हिंदू परिषद के गंगापुर तहसील अध्यक्ष जगदीश झंवर के बीच कथित बातचीत का 10 मिनट 29 सैकंड का ऑडियो वायरल हुआ है। गर्ग विधानसभा में प्रतिपक्ष के मुख्य सचेतक भी हैं। इसमें गर्ग पितलिया को समझाने के लिए झंवर से आग्रह कह रहे हैं। नहीं मानने पर उन्हें रगड़कर रख देने और मार खाने तक की धमकी भी दे रहे हैं। यह ऑडियो 30 मार्च का बताया जा रहा है। इसे लेकर गर्ग ने स्वीकार किया कि उनकी झंवर से पितलिया को पार्टी के पक्ष में बैठाने के लिए समझाने पर बात हुई थी। उधर, झंवर ने कहा कि बातचीत हुई थी लेकिन ऑडियो वायरल होने से खुद परेशान हूं।
गर्ग-झंवर के बीच यह वार्तालाप
जगदीश झंवर से गर्ग पहले चुनावी माहौल के बारे में पूछते हैं। झंवर कहते हैं कि कॉम्पटिशन है। गर्ग बोले, किससे? झंवर बोले, पितलिया से। जाट साहब बहुत पीछे हैं। गर्ग ने उपाय पूछा तो झंवर ने कुछ बदलाव की संभावना के लिए पूछा। गर्ग ने मना कर दिया। बोले, पितलिया को नामांकन वापस ले लेना चाहिए। उन्हें प्रदेश संगठन में एडजस्ट कर लेंगे। प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, केंद्र की किसी भी सरकारी कमेटी में उन्हें सम्मानजनक पोस्ट दिलवा देंगे।

अमित शाह भी रख रहे नजर

ऑडियो में गर्ग यह भी कह रहे हैं कि चुनाव पर दिल्ली और अमित शाह तक नजर रख रहे हैं। जिद कर पार्टी को नुकसान पहुंचाएंगे तो क्या हम छोड़ देंगे? झंवर ने बात काटते हुए कहा, यह तो वाजिब है। गर्ग ने कहा, हम रगड़कर रख देंगे, गंगापुर से बेंगलूरु तक। अभी तक तो हम मनुहार कर रहे हैं, तेरे को यह दे देंगे, वो दे देंगे। तीन तारीख निकल जाएगी तो फिर क्या होगा, इन्हें कल्पना नहीं है।
हर पंचायत पर विधायक बैठा देंगे
गर्ग ने यह भी कहा कि 40 विधायकों को बुलाकर एक-एक पंचायत पर बैठा देंगे। वे पूरा दम लगाकर इनके वोटर को ही काट लेंगे तो ये क्या कर लेंगे? झंवर ने कहा, आप भी यह कह रहे हैं और कांग्रेस वाले भी यही करेंगे। उनकी पूरी सरकार यहां लगी है। गर्ग ने कहा, इस समय तो वे भी रगड़ेंगे। समझा लो, वह खतरनाक स्टेप ले रहे हैं। वे (कांग्रेस) भी मारेंगे हम (भाजपा) भी मारेंगे। फिर जीतेंगे-हारेंगे देखा जाएगा। आप की स्थिति खराब होने वाली है। हम नहीं जीते तो भी कोई प्रलय नहीं होने वाली। कांग्रेस को भी फर्क नहीं पड़ेगा। वैसे पितलिया भले आदमी हैं। झंवर बोले, समझाया था लेकिन वह चुनाव लडऩे पर अडिग़ हैं। कह रहे हैं कि उनके साथ धोखा हुआ है।

पितलिया को पुलिस सुरक्षा, आवास पर सशस्त्र गार्ड तैनात

इधर, पुलिस ने रविवार को पितलिया को सुरक्षा मुहैया कराई। रायपुर उपखंड के नाथडियास में पितलिया के आवास पर जाब्ता लगा दिया। पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने बताया कि सशस्त्र हैड कांस्टेबल व 4 कांस्टेबल तैनात किए हैं। गौरतलब है कि पितलिया की मुख्यमंत्री के नाम चिट्ठी २ अप्रेल को सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इसमें पितलिया ने नामाकंन वापसी के लिए दबाव होने, बेंगलूरु में उनके व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद कराने तथा परिजनों को प्रताडि़त करने का आरोप लगाते हुए सुरक्षा का आग्रह किया था। जानकारों के अनुसार ३० मार्च को नामांकन भरने के बाद रात को पितलिया के गांव स्थित आवास पर बड़ी संख्या में युवक पहुंच गए थे। ऐसे में परिजनों ने पितलिया की सुरक्षा के लिए बाहर से निजी सुरक्षा गार्ड भी बुलवा लिए थे।
विधायक और सहाड़ा उपचुनाव सह प्रभारी जोगेश्वर गर्ग ने कहा कि मैंने ऑडियो सुना नहीं है लेकिन झंवर से बातचीत हुई थी। उनसे अनुरोध किया था कि उन्हें समझाएं। वह पार्टी में आ गए हैं तो निर्दलीय फार्म नहीं भरना चाहिए था। नामांकन भर दिया है तो वापस लेकर पार्टी का सहयोग करना चाहिए। पार्टी का नुकसान होगा तो उनका भी नुकसान होगा। अब पितलिया ने हमारी बात मान ली है। कल-परसों फील्ड में आ जाएंगे और पार्टी का प्रचार करेंगे।

Chandra Prakash sain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned