जैतारण के विधायक का स्वागत

जैतारण के विधायक का स्वागत

Shankar Sharma | Publish: Nov, 01 2018 01:48:34 AM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

राजस्थान में पाली जिले के जैतारण विधायक एवं राजस्थान सरकार में मंत्री सुरेन्द्र गोयल व पाली भाजपा जिला उपाध्यक्ष गोविन्दराम अडाणिया का बुधवार को बेंगलूरु आगमन पर लिंगराजपुरम सीरवी समाज, बडेर में कुमावत समाज की ओर से माला व साफा पहनाकर स्वागत किया गया।

बेंगलूरु. राजस्थान में पाली जिले के जैतारण विधायक एवं राजस्थान सरकार में मंत्री सुरेन्द्र गोयल व पाली भाजपा जिला उपाध्यक्ष गोविन्दराम अडाणिया का बुधवार को बेंगलूरु आगमन पर लिंगराजपुरम सीरवी समाज, बडेर में कुमावत समाज की ओर से माला व साफा पहनाकर स्वागत किया गया।


इससे पूर्व गोयल ने बडेर में माता की पूजा-अचना की। उन्होंने जैतारण क्षेत्र के प्रवासियों से आग्रह किया कि सात दिसम्बर को होने वाले राजस्थान विधानसभा चुनाव में समय निकालकर राजस्थान आएं और मतदान करें। उन्होंने प्रवासियों की समस्याएं भी सुनी। सीरवी समाज, जैन समाज, प्रजापति समाज, गुर्जर समाज, माली समाज, रावणा राजपूत समाज, जाट समाज ने भी उनका स्वागत किया।


कर्नाटक कुमावत समाज अध्यक्ष फतेहचंद भोमावत, संरक्षक मांगीलाल मेहरोता, चुन्नीलाल धमाणिया, कुमावत समाज मारगुण्डहल्ली अध्यक्ष सोहनलाल कारीवाल, कुमावत समाज बेंगलूरु सिटी के बंशीलाल दुबलदीया, माणकचंद सिंदड़, धर्मीचंद गुगवाण, कुमावत समाज अब्बिगेरे अध्यक्ष धर्मीचंद डैया, राजपुरोहित समाज अध्यक्ष नारायण सिंह राजपुरोहित, सीरवी समाज लिंगराजपुरम बडेर अध्यक्ष लक्ष्मणराम सीरवी, कुमावत समाज से नरेन्द्र गोयल, ओमप्रकाश ईटाड़ा सहित अनेक समाजों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

बीदर जिले के ७० से ज्यादा गांवों में जल संकट
बीदर. सूखा ग्रस्त घोषित बीदर जिले में जलसंकट गहरा गया है। 70 से ज्यादा गांवों के लोगों को दूरदराज से पेयजल लाना पड़ रहा है। बीदर के जिला अधिकारी एच.आर. महादेव के अनुसार जिला पांच साल से पानी की अनुपलब्धता झेल रहा है। प्रशासन ने पेयजल की कमी वाले गांवों को चिह्नित किया है। जल संकट का प्रमुख कारण भूजल स्तर कम होना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सभी दूरदराज के इलाकों में पेयजल आपूर्ति करने के लिए तैयार है।

इसके लिए धन भी मुहैया करा दिया गया है। राज्य सरकार पहले ही हुमनाबाद, औराद और बसवकल्याण को सूखा ग्रस्त घोषित कर चुकी है। जिला प्रभारी मंत्री राजशेखर पाटिल ने अधिकारियों की बैठक में कहा कि पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए पहले ही 15 करोड़ की राशि जारी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि जिले में सूखे से निपटने के लिए धन की कमी नहीं है। जिला अधिकारी ने कहा कि सभी 70 गांवों में पेयजल समस्या समाधान के लिए उपाय किए जा रहे हैं। जहां भी आवश्यक है वहां टैंकरों से पानी की आपूर्ति की जा रही है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned