कर्नाटक में बढ़ रहा जंगली हाथियों का उत्पात

  • किसान हलकान

By: Santosh kumar Pandey

Published: 05 Apr 2021, 08:30 AM IST

हासन. बेलूर तहसील के अरेहल्ली, सिरगुर कुंबारहल्ली तथा आस-पास के गांवों में घुसे 10-12 जंगली हाथियों के उत्पात से लाखों रुपए की नारियल, केला, कॉफी तथा धान की फसलें तहस-नहस हो गई है।

स्थानीय किसानों ने वन विभाग को इसकी सूचना देते हुए जंगली हाथियों को वनक्षेत्रों में खदेड़ऩे की कार्रवाई शुरु करने की मांग की है। स्थानीय किसानों का कहना है कि वन विभाग जंगली हाथियों से फसल को हो रहे नुकसान को रोकने में विफल रहा है। जब भी ऐसा हादसा होता है तब वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचकर तहस-नहस हुई फसलों की फोटो लेकर चले जाते है। किसानों को नुकसान का मुआवजा नहीं मिल रहा है।

हाथियों ने रौंदी फसल

मंड्या. रामनगर जिला चन्नपट्टण तहसील में स्थित कोडबहल्ली व सानबागणहल्ली गांव में जंगली हाथियों ने किसानों की फसलों व सब्जियों को भारी नुकसान पहुंचाया है। रात को जंगल से आए 10 हाथियों ने रागी, केला व टमाटर को रौंदकर उत्पात मचाया।

सुबह खेत में जंगली हाथियों का झुंड दिखाई पडऩे पर किसानों ने वनविभाग को सूचना दी। दोपहर को मौके पहुंची वन विभाग टीम ने पटाखे फोडक़र हाथियों को वापस जंगल की ओर खदेड़ा।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned