सख्ती से की जाएगी चुनाव आचार संहिता की पालना

सख्ती से की जाएगी चुनाव आचार संहिता की पालना

Shankar Sharma | Publish: Oct, 14 2018 12:43:23 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 12:43:24 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

बल्लारी लोकसभा क्षेत्र के उपचुनाव के लिए आचार संहिता जारी कर दी गई है। आचार संहिता की सख्ती से पालना की जाएगी।

बल्लारी. बल्लारी लोकसभा क्षेत्र के उपचुनाव के लिए आचार संहिता जारी कर दी गई है। आचार संहिता की सख्ती से पालना की जाएगी। चुनाव के दौरान राजनीतिक विषय से संबंधित अनुमति प्राप्त करने के लिए निर्वाचन अधिकारी को आवेदन करना होगा। राजनीतिक मामले में तालुक स्तर पर सहायक निर्वाचन अधिकारी के पास आवेदन सौंपकर अनुमति प्राप्त की जा सकती है। यह जानकारी जिलाधिकारी डॉ. वी.राम प्रसाद मनोहर ने दी।


वे गुरुवार को शहर के जिलाधिकारी कार्यालय के सभागृह में निर्वाचन अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान राजनीतिक विषय से संबंधित अनुमति प्राप्त करने के लिए जनता को कई चक्कर काटने पड़ते हैं। जनता को इस समस्या से निजात दिलवाने की जिम्मेदारी सहायक निर्वाचन अधिकारी तथा तहसीलदार को सौंपी गई है। चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ ठोस कदम उठाया जाएगा। डॉ. वी. राम प्रसाद मनोहर ने विधानसभा चुनाव के दौरान किए गए कार्य के अनुरूप ही इस बार भी कार्य करने को कहा। इस अवसर पर अपर जिला निर्वाचन अधिकारी एस.जे. सोमशेखर तथा निर्वाचन तहसीलदार हलीमा, जिलाधिकारी कार्यालय के तहसीलदार विश्वजीत मेहता सहित विभिन्न नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

अपनी गलती छिपाने के लिए दूसरों पर आरोप लगा रही भाजपा
हुब्बल्ली. उत्तर-पश्चिम कर्नाटक राज्य पथ परिवहन निगम के पूर्व अध्यक्ष सदानंद डंगनवर ने कहा है कि पिछले 10 वर्षों से महानगर निगम में सत्तारूढ़ भाजपा ने अपनी गलती छिपाने के लिए दूसरों पर आरोप लगा रही है। यहां जारी प्रेस विज्ञप्ति में डंगनवर ने कहा कि महानगर भाजपा अध्यक्ष नागेश कलबुर्गी पेंशन राशि को लेकर जनता को गलत जानकारी देकर गुमराह कर रहे हैं।

जिला प्रभारी मंत्री आर.वी. देशपांडे ने इस विषय पर स्पष्टीकरण दिया है कि नगर निगम में सही समय पर प्रस्ताव नहीं सौंपने के कारण समस्या उपजी है। देशपांडे ने इस विषय पर चर्चा की गई है यह कहा है ना कि राशि नहीं देने की बात कही है। डंगनवर ने कहा कि भाजपाइयों को अपनी गलती को दूसरों पर थोपने के बजाए जिला प्रभारी मंत्री से मुलाकात कर समस्या के समाधान की दिशा में प्रामाणिक प्रयास करने चाहिए।

Ad Block is Banned