विकलांगों की मांगों को सरकार को अवगत कराएंगे

कर्नाटक राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष डॉ. कृपा अमर आल्वा ने कहा है कि दिव्यांग बच्चों, अभिभावकों तथा स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों की महत्वपूर्ण मांगों को आयोग को अवगत कराया गया है।

By: शंकर शर्मा

Published: 07 Jun 2018, 10:20 PM IST

धारवाड़. कर्नाटक राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष डॉ. कृपा अमर आल्वा ने कहा है कि दिव्यांग बच्चों, अभिभावकों तथा स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों की महत्वपूर्ण मांगों को आयोग को अवगत कराया गया है। इनकी रिपोर्ट तैयार कर राज्य सरकार से शीघ्र ही सिफारिश की जाएगी।


डॉ. आल्वा धारवाड़ के जिला पंचायत सभा भवन में आयोग की ओर से दिव्यांग बच्चों की समस्याओं के समाधान के लिए आयोजित सार्वजनिक समस्या स्वीकार समारोह को संबोधित कर रहीं थी।


उन्होंने कहा कि सरकार दिव्यांग बच्चों के हितों की रक्षा तथा उनके कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं लागू की हैं। विशेष रूप से दिव्यांग बच्चों के विकास कार्यक्रमों को जारी किया गया है, परंतु वास्तविक जरूरतमंदों तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है या नहीं इसकी गंभीरता से समीक्षा करने की आवश्यकता है। कई दिव्यांग बच्चे तथा अभिभावकों ने स्वास्थ्य एवं बच्चों के पालन-पोषण के लिए अतिरिक्त आर्थिक मदद की मांग की है। शिक्षा विभाग तथा दिव्यांग विभाग की ओर से दी जा रही सुविधाओं में बढ़ोतरी करनी चाहिए।


उन्होंने कहा कि आज के सार्वजनिक समस्या स्वीकार कार्यक्रम में 150 से अधिक आवेदन मिले हैं। सभी न्यायसम्मत हैं। इस दिशा में समग्र समीक्षा कर पूरक रिपोर्ट राज्य सरकार को आयोग की ओर से सौंपी जाएगी। सरकार की ओर से इस दिशा में सकारात्मक कार्रवाई करने के लिए आयोग दबाव बनाएगा।


कार्यक्रम में जिला पंचायत की मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्नेहल आर., कर्नाटक राज्य बाल अधिकार सुरक्षा आयोग की सदस्य रूपा नायक, आनंद लोबा, आयोग की वरिष्ठ सहायक निदेशक डॉ. बी. उषा, सार्वजनिक शिक्षा विभाग के उप निदेशक एन.एच. नागूर, दिव्यांग तथा वरिष्ठ नागरिक सबलीकरण विभाग अधिकारी अमरनाथ के.एम., बेलगावी जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी नामदेव बलकर आदि मौजूद थे।


इस अवसर पर धारवाड़ तथा बेलगावी जिले के दिव्यांग, स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रमुख, सार्वजनिक शिक्षा विभाग के सर्व शिक्षा अभियान के अधिकारी उपस्थित थे।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned