भाव से किया त्याग खोलेगा मोक्ष का द्वार

भाव से किया त्याग खोलेगा मोक्ष का द्वार

Rajendra Shekhar Vyas | Publish: Sep, 10 2018 10:43:39 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

धार्मिक प्रतियोगिता के विजेताओं का बहुमान

तीर्थ पर आराधकों से धर्म चर्चा
बेंगलूरु.
दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ संकटमोचन पार्श्व भैरवधाम, अरसीकेरे में रविवार को पर्युषण महापर्व के चौथे दिन की आराधना कराते हुए श्रावक शैलेश भाई, मोहित भाई एवं दिवेश भाई ने तीर्थ पर आराधकों से धर्म चर्चा की एवं अनेक धार्मिक कार्यक्रम से लाभान्वित किया। दिनभर चली आराधना में कल्पसूत्र वोहराने का लाभ बेंगलूरु के अशोक कुमार, विजय कुमार, कमलेश कुमार सुराना परिवार ने लिया। गुरुजी को कल्पसूत्र वोहराया गया। अन्य लाभार्थी परिवारों द्वारा मतीज्ञान, श्रुद्धज्ञान, अवधीज्ञान, मन पर व्ययज्ञान, केवलज्ञान की पूजा की गई। इसके बाद कल्पसूत्र वाचन किया। धार्मिक प्रतियोगिता के विजेताओं का बहुमान किया गया। पालना एवं चौदह सपनों का आदेश बेंगलूरु बुल टेम्पल रोड स्थित पारस एनक्लेव अपार्टमेंट को दिया गया। ट्रस्ट अध्यक्ष अशोक कुमार सुराना ने तीर्थधाम पर सामूहिक लाभाॢथयों द्वारा नवपद की शाश्वती ओली करवाने की घोषणा की।
भाद्रपद माह सर्वश्रेष्ठ
विजयनगर स्थानक में साध्वी मणिप्रभा ने कहा कि पर्वतों में सुमेरु पर्वत, नदियों में गंगा नदी, पर्वों में पर्युषण महापर्व श्रेष्ठ है। उन्होंने कहा कि भाद्रपद माह सर्वश्रेष्ठ है। इस माह में शुरूसे लेकर अंत तक त्याग व तपस्या द्वारा व्यतीत होता है। जन्माष्टमी, पर्युषण महापर्व, दश लक्षण पर्व- इस प्रकार यह माह श्रेष्ठ है। धर्म संचय करने का, अपनी आत्मा को आध्यात्मिक समृद्धि से पूर्ण करने का जो हेतु है वह पर्व है।
अभिप्राय यह है कि पर्व के दिन धर्म साधना द्वारा अपनी आत्मा को भक्ति करना चाहिए। साध्वी ऋजुता ने कहा कि आज पर्युषण महापर्व का चौथा दिन है। इस अवसर पर लीला खमेसरा ने बच्चों को तैयार किया। बच्चों ने चौदह स्वप्नों की नाटिका प्रस्तुत की।

karykram

धूमधाम से मनाया बाबा गणिनाथ जन्मोत्सव
बेंगलूरु. मध्यदेशीय वैश्य सेवा ट्रस्ट ने शनिवार को जिगनी में दक्षिण भारत का पल्वैया धाम बनाने के संकल्प के साथ संत बाबा गणिनाथ जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया। अध्यक्ष अतुल कुमार ने स्वागत किया। सचिव आकाश कुमार गुप्ता ने समाज में हो रही प्रगति की जानकारी दी। ट्रस्टी संजीव कुमार गुप्ता ने समाज हित में राजनीतिक व प्रशासनिक पहुंच बनाने पर बल दिया। कन्हैया प्रसाद गुप्ता ने विधिवत पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर वैवाहिक व परिचय सम्मेलन भी हुआ। संचालन हीरालाल साह, बलराम प्रसाद व भोला प्रसाद गुप्ता ने किया।

Ad Block is Banned