कर्नाटक में कोविड मरीज बढऩे से आइसीयू बिस्तरों की कमी

कर्नाटक के आइसीयू में भर्ती मरीजों की संख्या पहली बार 800 के पार हो गई है। आइसीयू में भर्ती कुल 807 मरीजों में से 268 मरीज बेंगलूरु के अस्पतालों में हैं।

By: Nikhil Kumar

Published: 15 Sep 2020, 07:15 PM IST

- कुछ निजी अस्पताल बिस्तर देने में विफल
- निजी अस्पतालों में सरकारी कोटे के बिस्तर असिंपटोमेटिक या माइल्ड सिंपटोमेटिक मरीजों के हवाले
- स्वास्थ्य विभाग ने चेताया

बेंगलूरु. बेंगलूरु में एक फिर से आइसीयू बिस्तरों की कमी (With increase in covid patients, Bengaluru faces icu bed shortage) सामने आने लगी है। गत कुछ दिनों से तकरीबन हर दिन तीन हजार से ज्यादा कोविड मरीजों की पुष्टि ने समस्या और बढ़ा दी है। रविवार को प्रदेश में मिले 9,894 मरीजों में से 3,479 मरीज अकेले बेंगलूरु शहर से थे। प्रदेश के आइसीयू में भर्ती मरीजों की संख्या पहली बार 800 के पार हो गई है। आइसीयू में भर्ती कुल 807 मरीजों में से 268 मरीज बेंगलूरु के अस्पतालों में हैं।

29 निजी अस्पतालों ने ही दी 50 फीसदी बिस्तर

पेपर पर आइसीयू बिस्तर उपलब्ध होने के बावजूद कई छोटे अस्पताल बिस्तर देने में नाकाम रहे हैं। बड़े अस्पतालों में 29 अस्पताल ही 50 फीसदी बिस्तर देने में कामयाब हुए हैं। गरीब व वंचित कोविड मरीजों के लिए कार्यरत स्वयंसेवकों की मानें तो कई निजी अस्पताल 50 फीसदी बिस्तर देने से पीछे हट चुके हैं।

बेंगलूरु में बिस्तर प्रबंधन अधिकारी तुषार गिरीनाथ ने बताया कि मरीज बढऩे से गुरुवार से समस्या पैदा हुई है। सरकार सुनिश्चित करने में लगी है कि वादे के अनुसार निजी अस्पताल 50 फीसदी बिस्तर सरकार को दें।

दंडात्मक कार्रवाई की जरूरत

बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के विशेष आयुक्त रणदीप डी. ने बताया कि निजी अस्पतालों के कारण समस्या पैदा हुई है। जानकारी के अनुसार कुछ निजी अस्पताल सरकारी कोटे के बिस्तर का इस्तेमाल असिंपटोमेटिक या माइल्ड सिंपटोमेटिक मरीजों के उपचार के लिए कर रहे हैं जो बिस्तरों की बर्बादी है। दंडात्मक कार्रवाई करने की जरूरत है। अस्पतालों को चेतावनी जारी की गई है।

मेल नहीं खाते वास्तविक व पोर्टल पर उपलब्ध बिस्तरों की संख्या

बीबीएमपी की ओर से संचालित बिस्तर प्रबंधन पोर्टल के अनुसार शहर के सरकारी अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए 57 आइसीयू बिस्तर, निजी अस्पतालों में 316 आइसीयू बिस्तर और निजी मेडिकल कॉलेजों में 102 आइसीयू बिस्तर हैं। पोर्टल पर उपलब्ध बिस्तरों की संख्या वास्तव में उपलब्ध बिस्तरों से मेल नहीं खाती हैं। कारण, समय से डेटा अपलोड करने में खामियां। जिसे दूर करने में बीबीएमपी और स्वास्थ्य विभाग शुरू से ही विफल रहा है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned