महिला कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

भा.ज.पा. प्रत्याशी विजुगौडा पाटील के खिलाफ कठोर कदम उठाने की मांग को लेकर जिला महिला कांग्रेस की ओर से बुधवार को प्रदर्शन किया गया।

By: शंकर शर्मा

Published: 24 May 2018, 10:05 PM IST

विजयपुर. अधिकारियों के लिए अभद्र शब्दों का उपयोग करने वाल भा.ज.पा. प्रत्याशी विजुगौडा पाटील के खिलाफ कठोर कदम उठाने की मांग को लेकर जिला महिला कांग्रेस की ओर से बुधवार को प्रदर्शन किया गया।


जिला महिला कांग्रेस पदाधिकारियों का कहना है कि ३० हजार वोटों से चुनाव हारने के बावजूद बबलेश्वर निर्वाचन क्षेत्र के विजुगौड़ा पाटील बार-बार यही कहते रहे कि चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता नहीं रही। विजुगौडा पाटील १५ मई को वोटों की गिनती के दौरान बबलेश्वर क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारियों के लिए अभद्र शब्दों से संबोधित किया। विजुगौड़ा पाटील की इन्हीं हरकतों के कारण निर्वाचन अधिकारी परेशान हुए।


विजुगौड़ा पाटील के खिलाफ अभी तक चुनाव आयोग, जिलाप्रशासन व पुलिस विभाग की ओर कोई कार्यवाई न किए कई सवाल उठ रहे हैं। अधिकारियों के साथ ऊंची आवाज़ में बात करने वाले सामान्य कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाता था। असंख्य प्रतिनिधियों, सरकारी कर्मचारियों, पुलिस स्टाफ के सम्मुख अश्लील शब्दों का प्रयोग करने व जिलाधिकारी के लिए गलत शब्दों का प्रयोग करने वाले विजुगौड़ा पाटील के खिलाफ ठोस कदम नहीं उठाया गया है। जिला महिला कांग्रेस समिति के पदाधिकारियों ने चुनाव हारकर अपनी मानसिक क्षमता खो बैठे भा.ज.पा. नेताओं के खिलाफ ठोस कदम उठाने की मांग रखी।


इस अवसर पर महिला कांग्रेस समिति की अध्यक्ष महादेवी गोकाक, जिला पंचायत सदस्य सुजाता कल्लीमनी, बबलेश्वर ब्लाक कांग्रेस महिला अध्यक्ष विद्याराणी तुंगल सहित अनेक महिला कार्यकत्र्ता उपस्थित थी।

मन पर संयम रखने से ही मिलती है शांति
गुलेदगुड्ड/इलकल. जो व्यक्ति जीवन में अपने मन पर संयम बनाए रखते हैं, वे प्रगति के पथ पर अग्रसर होते रहते हैं। रावण के पास अनेक विधाएं थी। रावण की लंका सोने की थी। पर वो अहंकारी था। उसके उलट राम संयमी थे। रावण की एक गलती से उनके जीवन का नाश हो गया।

ये विचार पुणे के कमलेश महाराज ने बुधवार को आयोजित धर्मसभा में कहे। वे गुलेदगुड्ड में नया बालाजी पंचायत भवन में आस्था सत्संग समिति की ओर से पुरुषोत्तम मास के उपलक्ष्य में आयोजित संगीतमय रामचरित मानस नवाह्न पारायण के कार्यक्रम में श्रद्धालुओं को संबोधित कर रहे थे। मंगलवार शाम में रामायण के सुंदर कांड के प्रसंगों का वर्णन किया। उन्होंने कहा कि जीवन में शांति तब ही आएगी जब मन पर संयम रखेंगे।


उन्होंने कहा कि उतावलेपन से काम संवरने की बजाय बिगडऩे की संभावना ज्यादा होती है। मन, वचन पर नियंत्रण रखना चाहिए। संगीतमय होने से श्रद्धालु भक्ति की सरिता में गोते लगाते आनंद महसूस कर रहे थे। कमलेश महाराज ने प्रसंगानुसार भजनों की प्रस्तुति देकर सबको मंत्रमुग्ध किया। बुधवार के दिन लंका कांड का वर्णन किया। इलकल के परमानंद करवा एवं यतिराज उपाध्यक्ष ने बताया कि गुलेदगुड्ड में रामचरित मानस नवाह्न पारायण का आयोजन पहली बार हो रहा है।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned