अंतिम बैठक में मिला महिला पार्षदों को बोलने का अवसर

अन्य वार्डों को अनुदान मिलने का आरोप

By: Santosh kumar Pandey

Published: 10 Sep 2020, 02:40 PM IST

बेंगलूरु. महिला पार्षदों ने बीबीएमपी में पांच साल में अंतिम बैठक में बोलने का मौका देने की मांग की और महापौर गौतम कुमार ने उन्हें ऐसा करने दिया। बैठक सुबह 10 बजे आरंभ होने वाली थी। सभी पार्षद फोटो सेशन में व्यस्त थे।

दोपहर के बाद बैठक आरंभ होने पर महिला सदस्यों ने एकजुट होकर महापौर से अंतिम बैठक में उन्हें बोलने का अवसर देने की मांग की। कुछ महिला पार्षदों ने कहा कि उनके वार्ड का अनुदान अन्य वार्ड को दिया गया। पालिका के इतिहास में पहले कभी भी इस तरह नहीं हुआ।

उनके वार्ड का अनुदान प्राप्त करनेद वाले अन्य वार्डो के पार्षदों ने अंतिम दिनों में प्रचार के लिए सिलाई मशीनों, स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन, सड़कों का निर्मण, गड्ढों को भरने, जल शुद्धिकरण, व्यापारियों को ठेला गाडिय़ां, विकलांगों को ट्राइसिकल और अनाज के पैकेट वितरित किए। उन्होंने आरोप लगाया कि इसकी जानकारी अधिकारियों को भी थी। इसलिए अधिकारियों को निलंबित किया जाए।

कांग्रेस पार्षद जी.पद्मावती ने कहा कि पालिका के चुनाव निर्धारित समय में कराए जाएं। मंत्री और विधायक अपना मानदेय भत्ता बढ़ा लेते हैं। इसी तरह पार्षदों को भी सुविधा मिले। भाजपा सरकार आने के बाद कांग्रेस पार्षदो के वार्ड को फंड देने में सौतेला रवैय्या अपनाया गया है। कई महिला पार्षदों ने अपने वार्ड की समस्याएं रखीं। पांच साल की अवधि में उन्हें बोलने का अवसर नहीं मिलने पर दुख प्रकट किया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned