चुनाव समाप्त होने के बाद भी अब तक शुरू नहीं हुआ कार्य

उणकल क्रास से आधा किलोमीटर दूर स्थित देवप्रियनगर की कच्ची सडक़ पर मानसून की बारिश होने के साथ ही लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

By: शंकर शर्मा

Published: 01 Jul 2019, 11:36 PM IST

हुब्बल्ली. उणकल क्रास से आधा किलोमीटर दूर स्थित देवप्रियनगर की कच्ची सडक़ पर मानसून की बारिश होने के साथ ही लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां तीन दशक बीत जाने के बावजूद इस सडक़ का डामरीकरण नहीं किया गया है। इस आवासीय इलाके के लोग अब भी डामरीकृत सडक़ बनने की उम्मीद में दिन गुजार रहे हैं।

डामरीकृत सडक़ नहीं होने के कारण इस इलाके के निवासियों ने इस बार के लोकसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार करने का फैसला लिया था। इसके बाद महानगर निगम के अधिकारियों ने चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के बाद कार्य आरम्भ करने का आश्वासन दिया था। चुनाव समाप्त होकर नतीजे आए हुए एक माह बीतने के बाद भी सडक़ का निर्माण अब तक शुरू नहीं हुआ है।


इस बारे में स्थानीय लोगों को काफी नाराजगी है। यही नहीं पूर्व में विधानसभा चुनाव के दौरान भी मतदान बहिष्कार करने पर जनप्रतिनिधियों तथा अधिकारियों ने आगामी दिनों में सडक़ निर्माण करने का झूठा आश्वासन दिया था। इस बार भी अधिकारियों की वादाखिलाफ से लोगों में नाराजगी बढ़ रही है। तीस वर्ष पूर्व बस इस इलाके में उपयुक्त मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं। थोड़ी सी बारिश होने पर भी घुटनों तक पानी जमा हो जाता है। कीचड़भरी सडक़ से प्रतिदिन वाहनचालक व राहगीरों को गुजरना पड़ रहा है।

थोड़ी तेज बारिश होने पर तो भूमिगत मलजल निकासी का पानी घर के सामने एकत्र हो जाता है। आवासीय इलाके की समस्याओं के बारे में जानकारी देने के लिए भी लोग पीछे हट रहे हैं। आपकी समस्याओं का समाधान कैसे होगा पूछने पर वे कहते हैं कि हम गरीब हैं कोई भी आकर प्रताडि़त करे तो उनका सामना करने की ताकत नहीं है। सडक़ जैसी है वैसी ही रहने दीजिए कह कर अपनी बेबसी व्यक्त करते हैं।

विधायक की बात की भी कीमत नहीं
डामर सडक़ निर्माण करने के लिए अनुदान देने पर भी अधिकारी बात नहीं मान रहे हैं। हुब्बल्ली-धारवाड़ सेंट्रल विधानसभा क्षेत्र में आने वाले आवासीय इलाकों में आपात तौर पर डामर सडक़ निर्माण करने का स्वयं विधायक जगदीश शेट्टर ने महानगर निगम के अधिकारियों को एक सप्ताह में दो बार निर्देश दिया। इसके बावजूद अधिकारी कार्य नहीं कर रहे हैं।

इनका कहना है
एक कनिष्ठ अभियंता अभियंता की बात सुनकर कार्य आरम्भ नहीं कर रहा है। शकील अहमद महानगर निगम के आयुक्त थे तब उनके सामने ही वहां की सभी समस्याओं का समाधान किया गया था। अभियंता महेश को फोन पर निर्देश देने के बाद भी कोई लाभ नहीं हुआ। एक सप्ताह में सडक़ का डमरीकरण आरम्भ नहीं किया तो जिलाधिकारी तथा महानगर निगम आयुक्त से शिकायत की जाएगी। जगदीश शेट्टर, विधायक, हुब्बल्ली-धारवाड़ सेंट्रल विधानसभा क्षेत्र

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned