scriptWork on the world's 'first parliament' not yet started | विश्व की ‘पहली संसद’ पर अभी तक काम शुरू नहीं | Patrika News

विश्व की ‘पहली संसद’ पर अभी तक काम शुरू नहीं

  • सात माह पहले रखी थी आधारशिला

बैंगलोर

Updated: August 22, 2021 01:19:21 pm

बेंगलूरु. पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा द्वारा बीदर जिले के बसवकल्याण में 500 करोड़ रुपए की लागत वाले अनुभव मंडप की आधारशिला रखने के लगभग सात महीने बाद भी बहुप्रतीक्षित परियोजना पर काम शुरू होना बाकी है।
patrika_samachar.jpg
आधारशिला रखते समय येडियूरप्पा ने परियोजना को दो साल में पूरा करने का वादा किया था और कहा था कि इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

अधिकारियों का कहना है कि परियोजना के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) भी अभी तक तैयार नहीं हुई है और डीपीआर के बिना निविदाएं जारी नहीं की जा सकती हैंै।
मालूम हो कि येडियूरप्पा ने बसवकल्याण विधानसभा सीट पर उपचुनाव से पहले परियोजना की आधारशिला रखी थी।

अनुभव मंडप का ऐतिहासिक महत्व

12वीं शताब्दी के सुधारक बसवेश्वर द्वारा स्थापित अनुभव मंडप आध्यात्मिक जागृति और धार्मिक प्रवचन का गवाह था। इसे विश्व की ‘पहली संसद’ माना जाता है। बसवेश्वर की शिक्षाओं के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से शुरू की गई परियोजना पहली बार 2016 में तत्कालीन सिद्धारमैया सरकार द्वारा प्रस्तावित की गई थी।
सरकारी सूत्रों ने बताया कि इसका एक डिजाइन बनाकर सरकार के सामने एक प्रस्ताव रखा गया था, जिसके बाद येडियूरप्पा ने आधारशिला रखी। लेकिन अब तक कोई प्रगति नहीं हुई है। डीपीआर के लिए टेंडर मांगे गए थे और कर्नाटक की कुछ फर्मों को चुना गया था।
नवम्बर में काम शुरू होने की संभावना

हालांकि, फर्मों ने अभी तक डीपीआर जमा नहीं किया है। इसके बिना हम टेंडर नहीं मांग सकते। हमें उम्मीद है कि वे डीपीआर जमा कर देंगे और हम सितंबर तक टेंडर मांगेंगे और नवंबर में काम शुरू हो सकता है। साथ ही अधिकारी यह भी कहते हैं कि यदि उचित बोली लगाने वाले नहीं मिलते हैं तो परियोजना में और देरी हो सकती है।
छह मंजिले मंडप में होंगे 770 स्तंभ

नया अनुभव मंडप 770 स्तंभों पर आधारित होगा। इसमें कुल छह मंजिलें होंगी। इसकी वास्तुकला चालुक्य शैली पर आधारित होगी। साथ ही 770 लोगों के बैठने की क्षमता वाला एक सभागार भी बनेगा।
यह परियोजना जहां 101 एकड़ में बनेगी, वहीं वास्तविक ढांचा 7.5 एकड़ में बनेगा। बजट में परियोजना के लिए घोषित 500 करोड़ रुपए में से 200 करोड़ रुपए पहले ही जारी किए जा चुके हैं। 101 एकड़ में से परोपकार की भावना से लोगों ने 11.25 एकड़ जमीन दान में दी है।
किसानों की ओर से अधिक मुआवजा मांगे जाने के कारण भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया रुक गई है। फिलहाल परियोजना स्थल पर मिट्टी की जांच की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

UP Assembly Elections 2022 : अमित शाह की अखिलेश यादव को खुली चुनौती, बोले- अगर हमारे मुकाबले 10 फीसदी भी काम किया तो जवाब देंटाटा की Air India आज से भरेगी उड़ान, इस तरह करेंगे यात्रियों का स्वागतRRB-NTPC: छात्र संगठनों का आज बिहार बंद का ऐलान, महागठबंधन ने भी किया समर्थन, पड़ोसी राज्यों में अलर्टSC-ST को प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आजरीट परीक्षा में बड़ा खुलासा: दो करोड़ रुपए में सौदा, शिक्षा संकुल से ही हुआ था पेपर लीकAccident on Highway : हादसे में गई परिवार के चार लोगों की जान,कोहरा बना कालCG Board Exam 2022: बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए बड़ी खबर, 31 जनवरी से आगे बढ़ सकती है प्रैक्टिकल परीक्षा की तारीख, ये है वजहअंडरगारमेंट से भगवान को जोड़नेवाली एक्ट्रेस पर FIR, जानिए किस बात पर भड़का विवाद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.