बांसवाड़ा : नगर परिषद का जायजा लेकर बोलीं उपनिदेशक, सरकार से ज्यादा उम्मीद भुलाएं, खर्च ज्यादा तो बढ़ाएं आय

deendayal sharma

Publish: Oct, 12 2019 10:09:44 AM (IST) | Updated: Oct, 12 2019 10:09:45 AM (IST)

Banswara, Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. स्वायत्त शासन विभाग की उप निदेशक प्रभा गौतम का कहना है कि सरकार के स्तर से निकाय को अधिक पैसा मिलेगा, यह बात भूलनी होगी। निकाय अपने स्तर पर आय के स्रोत बढ़ाएं, आय में वृद्धि करें और इसके लिए निरंतर प्रयास करें।बांसवाड़ा में नगर परिषद के आकस्मिक निरीक्षण के बाद बातचीत में उन्होंने चुंगी मद में मिलने वाली राशि के मुकाबले वेतन मद में राशि अधिक व्यय होने के सवाल पर गौतम ने कहा कि परिषद को इनकम जनरेट करनी पड़ेगी। खुद भवन बनाएं और किराये पर दें। बकाया नगरीय विकास सहित अन्य मदों में वसूली को गति दें। बड़ी संख्या में पद रिक्त होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि विभाग सीधे जनता से जुड़ा है। वर्तमान में पदों के मुकाबले जितने कार्मिक हैं, उसके अनुरूप काम कर रहे हैं। कई लोग चयन होने के बाद भी अन्य विभागों में अवसर मिलने पर ज्वाइन कर लेते हैं। इससे भी पद रिक्त रह जाते हैं। प्रयास कर रहे हैं कि महत्वपूर्ण रिक्त पद भरें जाए, ताकि कार्य प्रभावित नहीं हो। उन्होंने बताया कि विभागीय प्रक्रिया के तहत निरीक्षण किया है। योजनाओं की प्रगति, अंबेडकर भवन प्रोजेक्ट, बजट घोषणाओं, एसबीएम आदि की जानकारी लेकर बांसवाड़ा परिषद सहित परतापुर नगर पालिका के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। जल्द जमेगा सेटअप परतापुर में नई पालिका बनने और कार्मिकों की कमी के सवाल पर गौतम ने कहा कि नई पालिका है, सेटअप होने में कुछ समय लगेगा। इसके लिए पूरे प्रयास हो रहे हैं। तकनीकी कार्मिक आदि नियुक्ति होंगे। बदलाव होगा तो सकारात्मक स्थितियां भी दिखेंगी। अभी सरकार की ओर से पालिका को 40 लाख रुपए भी जारी किए हैं। यह भी ली जानकारी उप निदेशक गौतम ने चुंगी मद में मिलने वाली राशि और वेतन मद में खर्च के बारे में पूछा तो आयुक्त पीएल भाबोर ने बताया कि प्रति माह 78 लाख रुपए चुंगी मद में मिल रहे हैं। वेतन मद में एक करोड़ 13 लाख रुपए व्यय हो रहा है। अतिरिक्त राशि की व्यवस्था कर वसूली और भूखंड नीलामी आदि से की जा रही है। एरियर भुगतान दीपावली से पहले किया जाएगा। भाबोर ने यह भी जानकारी दी कि बांसवाड़ा केंद्र सरकार की अमृत योजना में सम्मिलित नहीं हैं। हालांकि योजना के नियमानुसार शहर की जनसंख्या एक लाख से अधिक है। जोनल प्लान बनाने के साथ ही उन्होंने एसबीएम, सर्वे आदि गतिविधियों की जानकारी दी। गौतम के साथ प्रशासनिक अधिकारी हुकुमसिंह, प्रमोद कुमार भी रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned