बांसवाड़ा : कपिल की मौत के रहस्य से पर्दा उठा, गहरे पानी में डूबने से हुई मौत

बांसवाड़ा : कपिल की मौत के रहस्य से पर्दा उठा, गहरे पानी में डूबने से हुई मौत

Ashish vajpayee | Publish: Oct, 14 2017 12:07:12 AM (IST) Banswara, Rajasthan, India

पांच बच्चों के साथ नहाने के लिए गया था, गहरे पानी में चले जाने से डूबा

बांसवाड़ा. कोतवाली थाना क्षेत्र के हाउसिंग बोर्ड स्थित शिवहनुमान मंदिर के पास से गायब हुए बालक कपिल का शारदा नगर के पास कागदी नदी से नग्नावस्था में शव बरामद होने के मामले की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। कपिल चार अन्य बच्चों के साथ कागदी में नहाने गया था और वहां वह गहरे में पानी में चले जाने के बाद बाहर नहीं आ पाया। और उसकी डूबने से मौत हो गई। इसके अन्य बच्चों ने डर के मारे कपिल के कपड़े वहीं एक पाइप में छिपा दिए और घर चले गए।

प्रकरण का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि डिप्टी वीराराम के नेतृत्व में सीआई गोविंद सहित अन्य पुलिस कर्मियों के अनुसंधान में सामने आया कि घटना के दिन कपिल चार बालकों के साथ खेलते हुए कागदी पिकअप की तरफ गया था। पुलिस ने इन बालकों की पहचान की। इसके बाद बाल कल्याण समिति के पदाधिकारी हरीश त्रिवेदी व वर्षा मेहता की उपस्थिति में बच्चों ने बताया कि वह चारों खेलते-खेलते प्रताप सर्कल से आगे कागदी पिकअप तक पहुंचे। वहां नदी किनारे कपड़े रखने के बाद नहाए। नहाते समय कपिल गहरे पानी में चला गया और डूब गया। कपिल को बचाने के लिए प्रयास भी किए, लेकिन की गहराई अधिक होने की वजह से वे उसमें सफल नहीं हुए। इसके बाद बच्चों ने नदी किनारे रखे कपड़े वहीं पर एक पाइप के अन्दर डालकर पाइप के खुले मुंह को पत्थर रखकर ढंक दिया। इसके बाद वे डरकर वहां से चले गए।

हादसा स्थल से कपड़े बरामद, पिता ने की पहचान

पुलिस ने बताया कि बच्चों की निशानदेही पर शुक्रवार को डिप्टी वीराराम चौधरी ने पाइप से कपिल के कपड़े भी बरामद कर लिए और उनकी पहचान मृतक के पिता ने भी कर दी है। कपिल के अलावा एक और बच्चा भी गहरे पानी में गया था, जिसे साथी बचाने में सफल हो गए लेकिन कपिल को नहीं बचा पाए।

ये था मामला

२८ सितंबर को उत्तर प्रदेश के मथुरा हाल हाउसिंग बोर्ड निवासी प्रेमचंद पुत्र रामस्वरूप ने अपने बेटे कपिल की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। इसमें बताया कि कपिल बच्चों के साथ खेलने गया था जो वापस घर नहीं लौटा। इसके बाद ३० सितंबर को कागदी नदी से कपिल का शव बरामद हुआ। कपिल के पिता ने इस मामले में हत्या की आशंका भी जताई थी।

पत्रिका ने उठाया मुद्दा

गौरतलब है कि कपिल की मौत के मामले को राजस्थान पत्रिका ने गत दिनों प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इससे हरकत में आई पुलिस ने मामले में और तेजी दिखाई। साथ ही बच्चों से पूछताछ की। इसके बाद पुलिस ने इसमें खुलासा किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned