बांसवाड़ा : ‘हमने तो चपरासी पैदा किए, कहां से लाएं डाक्टर’

आंबावाड़ी में पीएचसी के उद्घाटन के अवसर पर बोले राज्यमंत्री रावत

By: Ashish vajpayee

Published: 11 Nov 2017, 12:02 PM IST

बांसवाड़ा. हमने चपरासी पैदा किए, हमने अध्यापक पैदा किए लेकिन 15-20 लाख की आबादी में 15 डॉक्टर पैदा नहीं किए तो कहां से लाए डॉक्टर। हमने न तो अधिकारी पैदा किए और न ही अच्छी सेवा में जाने वाले अधिकारी पैदा किए तो परेशानी तो आएगी ही। बावजूद इसके हम कोशिश करेंगे और कहीं से भी डॉक्टर लाने का प्रयास करेंगे। यह दो टूक बात पंचायत राज राज्य मंत्री धनसिंह रावत ने उस समय कही जब आंबावाड़ी में शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का लोकार्पण करने के बाद आयोजित सभा में चिकित्सक लगाने की मांग की गई। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि जब तक हम अच्छी शिक्षा नहीं देंगे तब तक न तो डॉक्टर बनेंगे और न ही अधिकारी।

इस मौके पर अध्यक्षता नगर परिषद सभापति मंजूबाला पुरोहित ने की एवं विशिष्ट अतिथि के तौर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर हिम्मतसिंह बारहठ, पार्षद सीता डामोर, देवबाला राठौड़, सचिन सोनी, रमेश पहलवान, अमरसिंह राठौड़, नारायण गणावा, शब्बीरभाई, उपाध्यक्ष योगेश जोशी, प्रधान दूधालाल मईड़ा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा एच एल ताबीयार, शहरी डीपीएम विनिता त्रिवेदी आदि उपस्थित थे।

आपकी दुकान में सामान होगा तो आपकी चलेगी

इस अवसर पर पंचायतराज राज्य मंत्री रावत ने पार्षद सीता डामोर को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों के स्वास्थ्य के लिए पिछड़े क्षेत्र में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रारम्भ किया गया है, इसमें कोई राजनीति नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि जिसकी दुकान में सामान होगा उसकी जीत होगी। यदि हमारी दुकान में अधिक सामान होगा तो हमारी जीत होगी और यदि आपकी दुकान में सामान ज्यादा होगा तो उनकी जीत होगी।

सशक्तिकरण अभियान में रंगीन हुए आंगनवाड़ी केन्द्र

अब तक उपेक्षित रहने वाले आंगनवाड़ी केन्द्रों को जिले में चलाया जा रहा आंगनवाड़ी सशक्तिकरण अभियान धीरे-धीरे रंग ला रहा है और इसके तहत आंगनवाड़ी केन्द्रों को भामाशाहों का संबल मिलने लगा है। केन्द्रों पर व्यवस्थाओं के बेहतर होने से आने वाले बालक-बालिकाओं की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। इसके तहत गोपीनाथ का गढ़ा के आदर्श आंगनवाड़ी केन्द्र पनासी बड़ी में गतिविधियों का संचालन किया गया। एलएस रैना गुप्ता ने बताया कि इसके तहत शुक्रवार को साप्ताहिक पोषाहार का वितरण दिवस पर गर्भवति धात्री एवं किशोरी बालिकाओं को किया गया।

इस मौके पर कार्यकर्ता कांता एवं नीता पाटीदार उपस्थित थी। उपनिदेशक हाकम खां ने बताया कि जिला कलक्टर भगवतीप्रसाद की पहल पर चलाए गए आंगनवाड़ी सशक्तिकरण अभियान के तहत अब तक 578 आंगनवाड़ी केन्द्रों पर रंगरोगन करवाया जा चुका है वहीं इनमें से 11 में पंखों 421 में वेट मशीन तथा 127 में जाजम की व्यवस्थाएं भी भामाशाहो के सहयोग से की गई है। 135 पाठशालाओं में शौचालयों का निर्माण कर 1408 में पानी तथा 79 पाठशालाओं में बिजली की व्यवस्थाएं की जा चुकी हैं।

Ashish vajpayee
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned