बांसवाड़ा.उखड़ी पेचवर्क की परतें, बिखरी कंकरीट

बांसवाड़ा. नगर परिषद क्षेत्र में बरसात के बाद सडक़ों की दशा सुधारने के लिए पेचवर्क कार्य तो करा लिया, लेकिन इसकी गुणवत्ता के प्रति अनदेखी के बावजूद अब संंबंधित संवेदक को भुगतान करने की तैयारी की जा रही है। जबकि पेचवर्क की परतें उखड़ चुकी हैं। कुछ स्थानों पर महीनों से बारीक कंकरीट बिखरी पड़ी है।

By: mradul Kumar purohit

Published: 28 Feb 2020, 01:44 AM IST

बांसवाड़ा. नगर परिषद क्षेत्र में बरसात के बाद सडक़ों की दशा सुधारने के लिए पेचवर्क कार्य तो करा लिया, लेकिन इसकी गुणवत्ता के प्रति अनदेखी के बावजूद अब संंबंधित संवेदक को भुगतान करने की तैयारी की जा रही है। जबकि पेचवर्क की परतें उखड़ चुकी हैं। कुछ स्थानों पर महीनों से बारीक कंकरीट बिखरी पड़ी है।

दरअसल, बरसात के बाद नगर परिषद की ओर से विभिन्न कार्यों की 30 अगस्त 2019 को निविदा जारी की गई थी। इसमें शहर की सडक़ों पर पेचवर्क कार्य करना भी सम्मिलित था। ऑनलाइन निविदा प्रक्रिया 11 नवम्बर को पूर्ण की गई। इस निविदा के पैकेज संख्या एक में नगर परिषद क्षेत्र में डामर सडक़ पर 38 लाख रुपए खर्च कर पेचवर्क कार्य कराया जाना था। निविदा प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद संवेदक को कार्यादेश दिया गया, जिसे दो माह में कार्य पूर्ण भी करना था। संवेदक की ओर से यह कार्य भी कराया गया, लेकिन इसमें गुणवत्ता की पूरी तरह अनदेखी की गई। चंद दिनों में ही जिन स्थानों पर पेचवर्क किया गया, वहां कंकरीट बिखर गई और वर्तमान में भी यह जस की तस है। कई जगह बड़े पेच तो निकाले गए, लेकिन छोटे पेच छोड़ दिए गए, जिससे अभी भी सडक़ों की दुर्दशा है।
... और बना दिए बिल

इस कार्य के दौरान कमजोर मिट्टी को हटाने, पूरी तरह से मिट्टी को साफ कर पेच निकालने के लिए डामर, कंकरीट के मिश्रण को बिछाना था, लेकिन इस कार्य में सिर्फ औपचारिकता निभाई गई। तकनीकी मापदंडों की पूरी तरह से अवहेलना कर पतली सी परत बिछा दी गई और कार्य पूर्ण बता दिया। इसका नतीजा यह हुआ कि जहां परत बिछाई गई थी, वहां चंद दिनों में कंकरीट बिखर गई और डामर भी उखड़ गया। वहीं कई जगह तो पेच ही छोड़ दिए गए हैं, जिन पर आज तक नजर भी नहीं डाली गई है। वर्तमान में राजतालाब, खांदू कॉलोनी, पुराना बस स्टैंड क्षेत्र आदि स्थानों पर कंकरीट बिखरी पड़ी है। कई जगह सडक़ों पर गड्ढे हैं और लोगों व वाहनधारियों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सूत्र बताते हैं कि बावजूद संवेदक की ओर से कार्य पूर्ण करने की जानकारी पर इसके बिल बना दिए गए।
इनका कहना है

इस कार्य के बिल पेश कर दिए गए हैं, लेकिन पेचवर्क के कार्य सही नहीं होने की जानकारी मिली है। इस पर भुगतान प्रक्रिया को रोकने के निर्देश दिए हैं।
- पीएल भाबोर,

आयुक्त नगर परिषद, बांसवाड़ा।

mradul Kumar purohit Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned