बांसवाड़ा : प्रदेश के 18 लाख किसानों पर पांच हजार करोड़ का कर्ज, अब अतिवृष्टि से हजारों की फसल बर्बाद

बांसवाड़ा : प्रदेश के 18 लाख किसानों पर पांच हजार करोड़ का कर्ज, अब अतिवृष्टि से हजारों की फसल बर्बाद
बांसवाड़ा : प्रदेश के 18 लाख किसानों पर पांच हजार करोड़ का कर्ज, अब अतिवृष्टि से हजारों की फसल बर्बाद

deendayal sharma | Updated: 06 Oct 2019, 11:22:27 AM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

प्रदेश के 18 लाख किसानों ने राजस्थान राज्य को-ऑपरेटिव बैंक लि. से इस बार खरीफ में करीब पांच हजार करोड़ का कर्ज लिया, लेकिन अतिवृष्टि ने हजारों किसानों का कर्ज पानी में डूबो दिया है।

बांसवाड़ा. प्रदेश के 18 लाख किसानों ने राजस्थान राज्य को-ऑपरेटिव बैंक लि. से इस बार खरीफ में करीब पांच हजार करोड़ का कर्ज लिया, लेकिन अतिवृष्टि ने हजारों किसानों का कर्ज पानी में डूबो दिया और इन हालात ने उनके माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी है। अतिवृष्टि के कारण कई स्थानों पर तो हालात ये है कि खरीफ की फसल पूरी तरह चौपट हो गई और अब रबी की तैयारी अब तक नहीं हो पाई है। गौरतलब है कि खरीफ फसल में किसानों की मदद को लेकर राजस्थान राज्य को-ऑपरेटिव बैंक लि. की ओर से प्रदेश में 18 लाख 20 हजार 158 किसानों को 4583.81 करोड़ का ऋण मंजूर किया गया था। जयपुर के किसानों पर सबसे अधिक बोझ राजस्थान राज्य को-ऑपरेटिव बैंक लि. की ओर से सबसे ज्यादा जयपुर के किसानों को 416.56 करोड़ रुपए का कर्ज दिया गया है। 13 जिलों में सौ-सौ करोड़ से अधिक का ऋण प्रदेश के 13 जिले ऐसे हैं, जहां के किसानों पर सौ-सौ करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज है। इनमें उदयपुर 103.16, सवाई माधोपुर 162.81, कोटा 149.03, झुंझुनूं 130.62, झालावाड़ 165.02, जालोर 108.69, हनुमान गढ़ 149.08, दौसा 104.72, चूरू 107.33, बूंदी 120.10, बीकानेर 154.99, भरतपुर 164.78 और अजमेर के किसानों पर 170.21 करोड़ रुपए का कर्ज है। इनके अलावा सात जिले ऐसे हैं, जहां के किसानों पर दो-दो सौ करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज है। इन जिलों के किसानों ने इतना लिया जिला - स्वीकृत राशि (करोड़ में) जयपुर - 416.56 श्रीगंगानगर- 291.11 बाड़मेर- 263.65 जोधपुर - 234.88 अलवर - 232.70 सीकर - 225.74 नागौर - 225.25 (आरएससीबी की वेबसाइट से प्राप्त आंकड़े) बांसवाड़ा के किसानों पर 80 करोड़ का कर्जा बांसवाड़ा के किसानों को बैंक की ओर से 88.65 करोड़ रुपए की राशि खरीफ फसल के लिए स्वीकृत की गई है, जिसमें 79.32 करोड़ रुपए राशि किसानों के हाथ में पहुंच चुकी है। वहीं डूंगरपुर में किसानों पर 28.18 करोड़ रुपए का फसली ऋण है। इनका कहना है........... इस बार खरीफ की फसल के लिए किसानों को 30 सितम्बर तक ऋण वितरित किए गए हैं। जिसके लिए उन्हें मार्च तक का समय दिया गया है। औसतन किसानों को ऋण चुकाने के लिए 6 माह का समय मिल जाता है। अनिमेष पुरोहित, प्रबंध निदेशक, दी बांसवाड़ा सेंट्रल को- ऑपरेटिव बैंक लि 80 फीसदी तक खराबा अतिवृष्टि के कारण खरीफ फसल में संभाग कें बांसवाड़ा और प्रतापगढ़ जिले में 70 से 80 फीसदी तक खराबे का अनुमान है। महेश वर्मा, संयुक्त निदेशक, कृषि विस्तार

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned