बांसवाड़ा : मुख्यमंत्री का दौरा स्थगित, धरी रह गई तैयारियां

Ashish vajpayee

Publish: Oct, 13 2017 12:07:11 (IST)

Banswara, Rajasthan, India
बांसवाड़ा : मुख्यमंत्री का दौरा स्थगित, धरी रह गई तैयारियां

त्रिपुरा सुंदरी में पूजा-अर्चना का था कार्यक्रम

बांसवाड़ा. (तलवाड़ा). प्रदेश की मुख्यमंत्री का बांसवाड़ा यात्रा कार्यक्रम गुरुवार देर शाम एनवक्त पर स्थगित हो गया। उनका शाम को त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना का कार्यक्रम प्रस्तावित था। बताया गया कि गुजरात के डीसा मेंं देरी होने और शाम का धुंध घिर आने के कारण त्रिपुरा सुंदरी आने का कार्यक्रम स्थगित हो गया और वे उदयपुर चली गईं। इसके चलते तैयारियां धरी रह गई।


जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री की गुजरात के बनासकांठा जिले में सभा थी। वहां हुई देरी के चलते वे पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत ५ बजकर २० मिनट पर त्रिपुरा सुंदरी नहीं पहुंची। मुख्यमंत्री के आने से पहले ही जिला कलक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित प्रशासनिक अमला तैनात हो गया था। पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री धनसिंह रावत, जिले के प्रभारी मंत्री सुशील कटारा सहित भाजपा के संभाग और जिला स्तरीय पदाधिकारी भी एक-एक पहुंचने लगे थे।

शाम पांच बजे तक बड़ी संख्या में पार्टी नेताओं का जमावड़ा मंदिर परिसर के पाश्र्व में बने हेलीपेड के समीप लग गया था। शाम करीब साढ़े पांच बजे अधिकारियों और पार्टी नेताओं में कार्यक्रम निरस्त होने की चर्चाएं शुरू हो गई। करीब दस मिनट बाद प्रभारी मंत्री कटारा ने बताया कि मौसम खराब होने से मुख्यमंत्री का पहुंचना संभव नहीं हो रहा है।

...और एक-एक कर चल दिए

मुख्यमंत्री का दौरा स्थगित होने की जानकारी मिलते ही एक-एक कर भाजपा के जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी आदि हेलीपेड से बांसवाड़ा और अपने घरों के लिए रवाना हो गए। वहीं ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने भी रवानगी ले ली। हालांकि जिला कलक्टर, पुलिस अधीक्षक आदि मंदिर परिसर में बने विश्रांति गृह के समीप उद्यान में कुछ देर बैठे और बाद में वे भी बांसवाड़ा रवाना हो गए।

यह रहे मौजूद

मुख्यमंत्री के त्रिपुरा सुंदरी आने को लेकर बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी हेलीपेड पर पहुंचे थे, जिसमें राज्यमंत्री रावत और कटारा के अलावा संसदीय सचिव भीमाभाई डामोर, विधायक नवनीतलाल निनामा, जीतमल खांट, गोपीचंद मीणा आसपुर, वरिष्ठ नेता चुन्नीलाल गरासिया, पूर्व राज्यमंत्री भवानी जोशी, जिलाध्यक्ष मनोहर त्रिवेदी, पूर्व जिलाध्यक्ष भगवतपुरी, गजेंद्रसिंह डूंगरपुर, मनोहर पटेल, खेमराज गरासिया, सभापति मंजूबाला पुरोहित, पालिकाध्यक्ष रेखा जोशी, लीला पडियार सहित कई पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल थे।

आज आने की भी चर्चा

मुख्यमंत्री के अब शुक्रवार सुबह आने की भी चर्चाएं शुरू हो गई। इस बारे में पूछने पर जिला कलक्टर भगवतीप्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री शुक्रवार सुबह को आएंगी या नहीं, इस बारे में कन्फर्म सूचना नहीं है।

पंचाल समाज ने १००१ कमल के पुष्पों के साथ करवाई महापूजा

उमराई/तलवाड़ा. त्रिपुरा सुंदरी मंदिर परिसर में गुरुवार को मुख्यमंत्री की ओर से पूजा-अर्चना का कार्यक्रम तय था, लेकिन उनके एनवक्त पर नहीं आने पर पंचाल समाज ने १००१ कमल के पुष्पों के साथ महापूजा करवाई।

जानकारी के अनुसार पं. दिव्यभारत पण्ड्या व निकुंजमोहन पण्ड्या के आचार्यत्व में मंदिर में दीपावली के पूर्व महापूजन मुख्यमंत्री के हाथों होना था। उनके नहीं आने से पंचाल समाज के प्रतिनिधियों ने पूजा कराई, जिसमें चौदह चोखरा के अध्यक्ष अशोक पंचाल, महामंत्री नटवरलाल,भंवरलाल, धूलजी, प्रताप, लालजी, अंबलाल, विधायक जीतमल खांट मौजूद थे। इधर, मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए लाए गए गुलदस्ते भी बाद में मंदिर में चढ़ाए गए। ज्ञापन देने आए लोग निराश हुए।

मानव शृंखला बनाकर रोष जताया

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में एनएचएम के तहत कार्यरत कार्मिक सीएम को ज्ञापन देने आए थे। मुख्यमंत्री नहीं आने पर मंदिर परिसर में ही मानव शृंखला बनाकर प्रदर्शन किया और रोष जताया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned