बांसवाड़ा तिहरा हत्याकांड : पिता और पुत्रों की दिनदहाड़े हत्या करने वाले चार आरोपी चित्तौडगढ़़ से गिरफ्तार

बांसवाड़ा तिहरा हत्याकांड : पिता और पुत्रों की दिनदहाड़े हत्या करने वाले चार आरोपी चित्तौडगढ़़ से गिरफ्तार

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 06 2018 01:58:11 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. शहर के महात्मा गांधी चिकित्सालय परिसर में गत शनिवार को जमीन विवाद को लेकर पिता और दो पुत्रों की सरेआम पीट पीट कर हत्या करने के मामले में पुलिस ने बुधवार रात चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि हत्याकांड के मुख्य आरोपी केवलपुरा अब्दुल्लापीर निवासी पन्नालाल (42) पुत्र हीरा सरगड़ा तथा उसका बेटा नयन (18) तथा पन्नालाल के भाई डूंगर के बेटे नरेश (28) तथा अजय (26) को चित्तौडगढ़़ जिले के मण्डफिया में सांवलिया सेठ मंदिर परिसर के पास से गिरफ्तार किया गया है।

यह थी वारदात
उल्लेखनीय है कि एक सितंबर की सुबह आरोपियों ने इन्द्रा कॉलोनी निवासी शब्बीर तथा उसके दो बेटों शरीफ तथा सईद की सरिये से पीट पीट कर निर्मम हत्या कर दी थी। इसके बाद आरोपी फरार हो गए थे।

हत्या में प्रयुक्त कार गैराज से बरामद
पुलिस ने आरोपियों के साथ भागने के लिए काम ली गई कार भी जब्त कर ली। इसके अलावा वारदात में प्रयुक्त कार भी पुलिस ने शहर में पन्नालाल के मकान के पास उसके गैराज से बरामद कर ली। सूत्रों के अनुसार वारदात के बाद से गैराज बंद था तथा बाहर से शटर पर बोल्ट लगे हुए थे। इससे कोई शक नहीं करे। पुलिस ने जब गैराज की तलाशी ली तो वहां से एक सफेद रंग की कार खड़ी हुई मिली। पुलिस ने जब इस कार को गहनता से देखा और पड़ताल की तो यह वही कार थी जो वारदात में प्रयुक्त की गई थी। पुलिस को कार पर खून के निशान मिले। इसके अलावा कार से अन्य सामान बरामद हुआ है। हालांकि पुलिस ने अभी इसका खुलासा नहीं किया है।

सुबह से पुलिस की टीमें लगी हुई थी पीछे
एसपी ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमेें इनके पीछे लगी हुई थी। आरोपी दोपहर के समय ही पुलिस के हत्थे चढऩे वाले थे, लेकिन आरोपी पांच मिनट पहले ही पुलिस के नजरों से बच निकले। इसके बाद शाम साढ़े सात बजे पुलिस को आरोपियों के एक धर्मशाला में होने की सूचना मिली। इस पर पुलिस की टीमों ने वहां पहुंचकर मंदिर परिसर के पास आरोपियों को दबोच लिया।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned