बांसवाड़ा : मारपीट से घायल की मौत पर शव ले जाने ही खड़देव में बवाल, पुलिस पर पथराव, गाड़ियां तोड़ी, दागने पड़े आंसू गैस के गोले

बांसवाड़ा : मारपीट से घायल की मौत पर शव ले जाने ही खड़देव में बवाल, पुलिस पर पथराव, गाड़ियां तोड़ी, दागने पड़े आंसू गैस के गोले
बांसवाड़ा : मारपीट से घायल की मौत पर शव ले जाने पर खड़देव में बवाल, पुलिस पर पथराव, गाड़ियां तोड़ी, दागने पड़े आंसू गैस के गोले

deendayal sharma | Updated: 12 Oct 2019, 09:31:11 PM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा जिले के आंबापुरा इलाके के दशहरे के दिन मारपीट में घायल युवक की मौत पर शव उनके गांव खड़देव ले जाते ही शनिवार शाम बवाल मच गया। मौके पर एकत्र बड़ी संख्या में ग्रामीण शव को आरोपी के घर ले जाने की बात पर अड़ गए। शाम ढलने तक बात बिगड़ गई, जब ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। भीड़ के पथराव से तहसीलदार का वाहन और एम्बुलेंस क्षतिग्रस्त होने पर पुलिस को हालात काबू करने आंसू गैस के गोले दागने पड़े।

बांसवाड़ा. जिले के आंबापुरा इलाके के दशहरे के दिन मारपीट में घायल युवक की मौत पर शव उनके गांव खड़देव ले जाते ही शनिवार शाम बवाल मच गया। मौके पर एकत्र बड़ी संख्या में ग्रामीण शव को आरोपी के घर ले जाने की बात पर अड़ गए। शाम ढलने तक बात बिगड़ गई, जब ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। भीड़ के पथराव से तहसीलदार का वाहन और एम्बुलेंस क्षतिग्रस्त होने पर पुलिस को हालात काबू करने आंसू गैस के गोले दागने पड़े।

हालात बिगडऩे की सूचना पर कलक्टर अतरसिंह नेहरा, पुलिस अधीक्षक केसरसिंह शेखावत भी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। पुलिस उपाधीक्षक प्रभातीराम ने बताया कि घटनाक्रम में पुलिस के तीन-चार जवानों को चोट आई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने डीएसपी और चार थानों के प्रभारियों के अलावा लाइन से जाप्ता लगाया है।

यह था मामला

दशहरे पर खड़देव, केसरपुरा निवासी राजेश पुत्र प्रभु मईड़ा, विश्राम पुत्र कालूराम और सीताराम पुत्र दौलसिंह छोटी बदरेल में रावण दहन के मेले में गए थे। वहां किसी बात को लेकर विवाद पर गामदा गांव के विनोद पुत्र बावजी, कालू उर्फ संजय पुत्र रायचंद सहित छह-सात अन्य ने हमला कर दिया। इससे विश्राम एवं राजेश गंभीर घायल हुए। विश्राम को बांसवाड़ा के महात्मा गांधी चिकित्सालय से 8 अक्टूबर रात को उदयपुर रैफर किया गया, जहां शुक्रवार शाम को उसकी मौत हो गई। इस पर दूसर दिन शव लाया गया। शाम को शव खड़देव पहुंचा, तो बड़ी संख्या में जुटे लोग उसे आरोपी के घर ले जाने की बात पर अड़ गए।

पंप एक्शन गन से हवाई फायर भी

पुलिस ने प्रकरण में डिटेन करना बताकर कार्रवाई का भरोसा दिया, लेकिन ग्रामीण अड़े रहे। फिर शाम को अंधेरा होते ही कुछ लोगों ने पथराव कर दिया। बचाव में पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने पड़े और पंप एक्शन गन से हवाई फायर किए। इससे भीड़ तितर-बितर हुई।

घंटों तक पड़ा रहा शव

इससे पहले खड़देव में घंटों तक विवाद बना रहने से शव मृतक के घर से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर मुख्य सडक़ मार्ग पर एम्बुलेंस में पड़ा रहा। फिर अंधेरा होने पर पथराव, तोडफ़ोड़ हुई तो एकबारगी पुलिस ने हालात काबू में करते हुए विश्राम के शव को वापस बांसवाड़ा के महात्मा गांधी चिकित्सालय की मोर्चरी में भिजवाया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned