बांसवाड़ा : लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों में अटके वागड़ के मजदूर, पैदल घर लौटने को मजबूर, देखें वीडियो...

Lockdown In Rajasthan, Corona Virus Impact : गुजरात सहित अन्य राज्यों में अटके हुए है श्रमिक, अब पैदल पहुंच रहे घरों तक, चेकपोस्ट पर मुस्तैदी

बांसवाड़ा. जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के लोग रोजगार के लिए राज्य के विभिन्न हिस्सों एवं अन्य राज्यों में अटके हुए हैं। लॉक डाउन के बाद परिवहन की सुविधा नही होने से अब वे पैदल ही जिले के लिए रुख कर रहे हैं। पिछले दो दिनों से बड़ी संख्या में श्रमिक वर्ग बांसवाड़ा पैदल ही पहुंच रहा हैं। बॉर्डर एरियों में भी उनकी जांच हो रही हैं। कुछ लोग विभिन्न स्तरों पर पुख्ता सुविधाएं नही मिलने से परेशान भी हो रहे हैं। बड़ी संख्या में श्रमिकों के इस वर्ग के रोजगार के लिए पलायन से जुड़ा मामला होने से अब जनप्रतिनिधि भी इन लोगों के लिए व्यवस्थाओं को लेकर प्रशासन तक बात कर रहे हैं।

छोटे रास्तों पर कौन रोके : - गौरतलब है कि जिले में प्रवेश के पांच चेक पोस्ट पर बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई हैं, लेकिन एक सच यह भी है कि पैदल पहुंच रहे लोग शॉर्टकट रास्तों की भी तलाश कर रहे हैं। ऐसे में इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि कई लोग बगैर स्क्रीनिंग के भी घरों तक पहुंच रहे हैं। 100 से अधिक डूंगरपुर में अटके घाटोल विधायक हरेंद्र निनामा ने बताया कि कुवानिया, घाटोल, गढ़ी आदि के कुछ लोग झालरापाटन में फंसे हुए थे। इसके अलावा बुधवार को डूंगरपुर में भी वागड़ के कुछ श्रमिकों के अटकने की सूचना मिली थी। ऐसे में इन लोगों के लिए पुख्ता परिवहन, भोजन सहित अन्य व्यवस्थाओं एवं सहयोग के लिए बांसवाड़ा, डूंगरपुर एवं झालावाड़ के जिला कलक्टरों एवं अन्य अधिकारियों से बातचीत की हैं, ताकि इन परिवारों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। गौरतलब हक् कि सर्वाधिक श्रम के लिए वागड़ के लोग महाराष्ट्र मुम्बई, नागपुर, गुजरात के सूरत, वापी, वलसाड़, अंकलेश्वर, मध्यप्रदेश के इंदौर, रतलाम, उज्जैन आदि में पलायन होता हैं।

Corona virus Corona virus Impact
Show More
Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned