बांसवाड़ा : गांव-गांव, ढाणी-ढाणी होगी बेटियों के लिए पंचायत, चिकित्सा विभाग के कार्मिक करेंगे जागरूक

बांसवाड़ा : गांव-गांव, ढाणी-ढाणी होगी बेटियों के लिए पंचायत, चिकित्सा विभाग के कार्मिक करेंगे जागरूक

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 03 2018 01:20:39 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. प्रदेश में बेटियों को सुरक्षित जीवन और शिक्षा देने के उद्देश्य से शुरू किए गए डॉटर आर प्रीसियस कार्यक्रम में एक नई कड़ी जुड़ गई है। कार्यक्रम के इस तीसरे चरण में चिकित्सक विभाग के प्रशिक्षित कार्मिक पूरे प्रदेश में पंचायत-पंचायत जाकर लोगों को बेटियों के महत्व के बारे में बताएंगे और ग्रामीणों को जागरूक करेंगे। ‘बेटी पंचायत’ नामक इस कार्यक्रम को सफल बनाने में चिकित्सा विभाग कवायद कर रहा है।

यह है बेटी पंचायत
चिकित्सा विभाग की ओर से गत वर्ष प्रारंभ किए गए डॉटर आर प्रीसियस कार्यक्रम के तीसरे चरण के रूप में ‘बेटी पंचायत’ शुरू की जा रही है। इसके प्रथम चरण के तहत शुभारंभ 7 सितम्बर से पंचायत मुख्यालय पर होगा और इसका दूसरा चरण दिसम्बर में किया जाएगा। इसके तहत विभाग के कार्मिक पंचायत में जाकर प्रोजेक्टर के माध्यम से ग्रामीणों को बेटियों को सुरक्षित जीवन देने की सीख देंगे।

प्रथम चरण में 173 पंचायत करेंगे कवर
जिला पीसीपीएनडीटी अधिकारी हरिकांत शर्मा ने बताया कि 7 सितम्बर से शुरू होने वाले इस कार्यक्रम को दो चरणों में किया जाएगा। प्रथम चरण के तहत 7,14,25 और 28 सितम्बर को कार्यक्रम होंगे। जिसके तहत तकरीबन 173 पंचायतों को कवर किया जाएगा। इसके अलावा दूसरा चरण संभवता दिसम्बर माह में होगा। उन्होंने ने बताया कि प्रदेश की ग्राम पंचायतों में डेप-3 आयोजित कर ग्रामवासियों को प्रजेंटेशन, इमोशनल एनिमेशन फिल्म आदि के माध्यम से बेटियों के अन्य मुद्दों पर चर्चा करते हुए उन्हें सुरक्षित जीवन देने का संदेश दिया जाएगा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के इस अभियान में महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायती राज के साथ शिक्षा विभाग एवं बेटी बचाओ क्षेत्र में सक्रिय स्वयंसेवी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा।

मिलेगी मदद
डॉटर आर प्रीसियस कार्यक्रम के तहत अभी तक विवि, महाविद्यालयों एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों के साथ-साथ मेडिकल, नर्सिंग, तकनीकी और प्रबंधकीय संस्थानों में युवाओं से संवाद कर उन्हें बेटी सुरक्षा के प्रति प्रेरित किया गया है। इसके तहत डेप प्रथम कार्यक्रम 17 नवम्बर 2017, डेप द्वितीय 24 जनवरी 2018 को आयोजित किए गए थे। और अब तीसरा कार्यक्रम शुरू होने के साथ ही प्रदेश में कन्या सुरक्षा के प्रति साकारात्मक माहौल बनेगा। जिसके साथ ही कन्या भ्रूण हत्या को अंजाम देने वाले समाजकंटकों पर भी लगाम लगेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned