बांसवाड़ा : गडरिये के चंगुल से एक और मासूम को छुड़ाया, चाइल्ड लाइन की सजगता से मिला बच्चे को नया जीवन

बांसवाड़ा : गडरिये के चंगुल से एक और मासूम को छुड़ाया, चाइल्ड लाइन की सजगता से मिला बच्चे को नया जीवन

Ashish Bajpai | Updated: 14 Jul 2019, 03:01:45 PM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

चाइल्ड लाइन की सजगता से मिला बच्चे को नया जीवन

बांसवाड़ा. बच्चों से बालश्रम का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। कुछ माह पूर्व गडरियों के पास से मिले बच्चों का जीवन अभी पूर्णतया सामान्य भी नहीं हो सका कि शनिवार को चाइल्ड लाइन 1098 ने एक और बच्चे को मुक्त कराया। उक्त बच्चा भी परिजनों की ओर से वार्षिक बाल श्रम अनुबंध पर गडरिये को दिया गया। हालांकि बच्चा अभी इस बात की पुष्टि नहीं कर सका कि गडरिये ने उसके परिजनों को कितने रुपए दिए। वहीं, चाइल्ड लाइन की ओर से पूछताछ में बच्चे ने स्वयं को उदयपुर जिले की गोगुंदा तहसील के ओगणा गांव का बताया है।

विधानसभा में गूंजा बच्चों को गिरवी रखने का मुद्दा, चौरासी विधायक और नेता प्रतिपक्ष बोले- ‘ऐसी घटनाएं राजस्थान पर धब्बा’

ऐसे हाथ लगा बच्चा
चाइल्ड लाइन 1098 के कमलेश बुनकर ने बताया कि शनिवार को वे आउटरीच कार्यक्रम के तहत वि_ल देव की ओर गए थे। उस दौरान 10 वर्षीय बच्चे रमेश पुत्र चतरा खराड़ी को गडरियों के साथ देखा। इस पर गडरिये और बच्चे से पूछताछ की गई, जिसमें स्पष्ट हुआ कि गडरिये से बच्चे को बालश्रम के वार्षिक अनुबंध पर लिया है। चाइल्ड लाइन से प्राप्त जानकारी के अनुसार गडरिया पाली जिले का है।

वागड़ की नोतरा प्रथा से स्कूल को मिला दान, बच्चों के भविष्य के लिए बना दिया खेल मैदान

यह बताया बच्चे
चाइल्ड लाइन के जिला समन्वयक परमेश पाटीदार ने बताया कि टीम उदयपुर चाइल्ड की मदद से बालक के परिजनों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। वहीं, बच्चे को काउंसलिंग के बाद बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया। बच्चे को छुड़़ाने के मामले में कान्तिलाल यादव, कमलेश बुनकर, बासुडा कटारा का सहयोग रहा।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned