महिलाओं को कमाई का झांसा देकर कर रहे थे ठगी, जब भीड़ उमड़ी तो हुआ भंडाफोड़

महिलाओं को कमाई का झांसा देकर कर रहे थे ठगी, जब भीड़ उमड़ी तो हुआ भंडाफोड़

abdul bari | Publish: Jul, 02 2019 08:09:01 PM (IST) | Updated: Jul, 02 2019 08:25:31 PM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

( chtfund fraud in banswara ) बड़ी ठगी के खेल ( chitfund ) का मंगलवार को उस समय पर्दाफाश हुआ जब मुख्यालय पर सैकड़ों की संख्या में एकसाथ महिलाएं अपने ऋण के लिए जुटीं।

बांसवाड़ा.
महिलाओं के समूह को बिना ब्याज का कर्ज एवं मोटी कमाई का झांसा देकर एक बड़ी ठगी के खेल ( chitfund business ) का मंगलवार को उस समय पर्दाफाश ( chtfund fraud in banswara ) हुआ जब मुख्यालय पर सैकड़ों की संख्या में एकसाथ महिलाएं अपने ऋण के लिए जुटीं। मोहन कॉलोनी के पास एक बहुमंजिला ईमारत के भीतर एवं बाहर सैकड़ों की संख्या में एकत्रित महिलाओं को देख वहां मौजूद लोग भी एकाएक सकते में आ गए। कुछ देर में ही यह मामला पुलिस एवं शहरभर में खासा चर्चा का विषय बन गया। यकायक पुलिस पहुंची तो पूरी वारदत का भण्डाफोड़ हो गया।


यह खबर भी पढ़ें. प्रदेश शर्मसार.. नाबालिग को जबरन नशीला जूस पिलाकर किया गैंगरेप, बदहवास हालत में छोड़ा


पुलिस ने ( Banswara news ) मौके पर काम में लिए जा रहे लेपटोप सहित तीन जनों को हिरासत में लिया और उनको पूछताछ के लिए कोतवाली थाने लेकर आई। पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने बताया कि महाराष्ट्र एवं कर्नाटका क्षेत्र में कार्य करने वाली डी धनेश्वरी मल्टीस्टेट कॉ-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसायटी लिमिटेड की ओर से यहां समूह बनाकर महिलाओं से ठगी एवं उनकी मिटिंग की सूचना मिली। इस पर जिला विशेष शाखा के प्रभारी सुरेश सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंंचे और उन्होंने कार्रवाई की।


700 महिलाओं से ठगी
डीएसबी प्रभारी सुरेश चौधरी ने बताया कि उक्त कंपनी यहां बगैर ब्याज के कर्ज देने का झांसा दे रही थी। इसके एवज में प्रथम सदस्य से 1500 रुपए लिए जाते हैं। इसके बाद वह सदस्य दस-दस के समूह बनाता है। जैसे जैसे समूह बनते जाते हैं तो ठगी भी शुरू हो जाती है। हर सदस्य से ठगी की कहानी जुड़ती जाती है। उक्त कंपनी से अकेले बांसवाड़ा में करीब 700 महिलाओं एवं पुरुषों के जुड़े होने की जानकारी सामने आई है। उक्त कंपनी करीब सालभर से संचालित है। कंपनी की कई बैठकों के साथ उनसे व्यक्तिगत मुलाकातें भी खूब हुई हैं।

 

महिला ने सौंपी रिपोर्ट

गढ़ी थाना इलाके के मालपुर निवासी मणि पत्नी मोगजी बामनिया ने पुलिस को सौंपी रिपोर्ट में बताया कि उनको कंपनी सदस्यों ने झांसा ( Thug latest news ) दिया कि 1500 रुपए जमा करवाओगे ओर दस सदस्य बनवाओगे तो प्रत्येक सदस्य को प्रतिमाह पांच साल तक छह हजार रुपए का चेक दिया जाएगा। इसके बाद पूरी राशि ब्याज सहित वापस कर दी जाएगी। इस राशि का न तो कोई रसीद दी और न ही और कोई जानकारी उक्त राशि वापस दिलाई जाई। इस रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने कंपनी सदस्य बारी निवासी नारयण मईड़ा पुत्र शांतिलाल एवं उसके एक और साथी को हिरासत में लिया है। साथ ही मौके से पुलिस ने दो दिन का जमा कलेक्शन करीब दो लाख रुपए को जब्त किया है।

 

भारत के कई राज्यों में चलने की बात कही


इधर, कंपनी सदस्यों एवं मौके पर मौजूद महिलाओं ने बताया कि उक्त कंपनी भारत के कई राज्यों के साथ राजस्थान के कई जिलों में संचालित हैं। उक्त कंपनी इसी तरह अपने गु्रपों में सदस्य बनाती है और लोगों से ठगियां करती हैं। कंपनी के एमडी की ओर से भी यहां कई बार महिला समूहों की बैठकों के साथ उनको झांसे में लेने का कार्य किया गया है। पुलिस के प्रथम अनुसंधान में सामने आया है कि यहां दो तरह की कंपनियां ठगी कर रही थी। एक तो डीडीएमसीएल बिजनिस लाइफ चेलेजिंग ऑपरच्योनिटी एवं दूसरी और है।

 

यह खबरें भी पढ़ें..

 

7 साल की मासूम से बलात्कार, लहूलुहान हालत में घर के बाहर फेंका, देर रात हुआ हंगामारिश्वत लेते महिला

सुपरवाईजर गिरफ्तार, एसीबी टीम को देखते ही छूटे पसीने, पानी तक नहीं पिया

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned