राजस्थान के इस जिले में धरातल पर नहीं है पुलिस मित्र योजना, व्यवहार को लेकर बढ़ रही शिकायतें

राजस्थान के इस जिले में धरातल पर नहीं है पुलिस मित्र योजना, व्यवहार को लेकर बढ़ रही शिकायतें

deendayal sharma | Publish: Aug, 14 2019 11:59:27 AM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

राजस्थान के इस जिले में धरातल पर नहीं है पुलिस मित्र योजना, व्यवहार को लेकर बढ़ रही शिकायतें

बांसवाड़ा. अधिकारियों की लापरवाही के चलते बांसवाड़ा में पुलिस मित्र योजना फाइलों में ही दफन होकर रह गई है। यहां पुलिस लोगों को मित्र बनाना तो दूर, वह अपने व्यवहार में ही सुधार नहीं कर रही है। आए दिन परिवादियों एवं थानों पर आने वाले लोगों के साथ अनुचित बर्ताव की शिकायतें आ रही हैं।ताजा मामले कोतवाली, सदर थाने के सामने आए हैं। इससे लोगों में पुलिस के प्रति असंतोष की भावना पैदा हो रही है। साथ ही पुलिस मित्र योजना का उद्देश्य भी पूरा होता हुआ दिखाई नहीं पड़ रहा है। पुलिस मित्र योजना का मुख्य ध्येय पुलिस व जनता के बीच सामंजस्य तथा समन्वय की भावना पैदा करना है, जिससे समाज के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों का पुलिस को निरंतर सहयोग मिलता रहे और वे पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सामाजिक एवं जनहित के कार्यों में सहभागी के रूप में कार्य कर सकें। लेकिन पुलिस की ओर से एक भी कदम नहीं उठाया जा रहा है।

लोग डर से नहीं करते शिकायतें
इधर, जानकारों का माानना है कि वे भविष्य में पुलिस कार्रवाई के डर से शिकायत भी नहीं करते हैं। वे पुलिस के पचड़े में भी नहीं पडऩा चाहते। गत दिनों शहर में थाने के बगल में हुई चोरी की शिकायत करने में भी महिला को काफी हिचकिचाहट हुई। इसके बाद जब समाज के कुछ लोगों ने उसको प्रेरित किया तो वह थाने रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए पहुंची।

चोरी की रिपोर्ट पर पुलिस का अपमानजनक व्यवहार, कहा- खुद ध्यान क्यों नहीं रखते अब जाओ कलक्टर को बताओ

यहां काम करते हैं पुलिस मित्र
अपराध की रोकथाम
जागरूकता अभियान
यातायात सहायता और जागरूकता
अतिक्रमण, बाल दुव्र्यवहार व साामाजिक कार्य।
मानव अधिकार जागरूकता
महिला अधिकार जागरूकता
साइबार क्राइम व बैंक ठगी के लिए जागरूकता
एन्टी नार्कोटिक्स अभियान।
वैवाहिक विवाद, हस्तक्षेप व परामर्श।
पुलिस जनता खेल कार्यक्रम
साम्प्रदायिक सदभाव के प्रोत्साहन।
आपराधिक सूचनाएं प्रदान करना।
सोशल मीडिया विषयों में सहायता।
चिकित्सकिय क्षेत्र में सहायता।
शैक्षणिक क्षेत्र में सहायता।
पुलिस मित्र की विशेषताएं
समुदाय की सेवा के लिए सदैव तैयार।
सुरक्षा व यातायात नियमों का पालक
ईमानदारी, समयबद्धता, समर्पण के सिद्धांतों का पालक।
स्थानीय समस्याओं के समाधान के लिए विचारशील।
राजकीय सम्पत्ति की सुरक्षा के लिए चिंताशील।
अपने अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति सजग।
सदैव मानव सेवा के लिए तत्पर।
पुलिस मित्र के रूप में उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिए समर्पित।

यह करना था लेकिन नहीं किया
सीएलजी बैठक व जनसहभागिता बैठक में योजना का प्रचार प्रसार व पुलिस मित्र बनाने पर जोर देना।
मीडिया से प्रचार प्रसार करवाना, लेकिन किसी को जानकारी तक नहीं दी गई।
थाना प्रभारी को ऑन लाइन आने वाले आवेदनों को देखना व उनका सत्यापन करना।
बीट कांस्टेबल द्वारा बीट में पुलिस मित्रों से सहयोग लेना।
एसपी, एएसपी व वृताधिकारी द्वारा समीक्षा बैठक करनी थी।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned