बांसवाड़ा : ऐसी रही निर्माण की चाल तो जीजीटीयू के भवन को बनने में लग जाएंगे कई साल, अब तक शुरू नहीं हुआ कार्य

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Ashish vajpayee

Published: 24 Jul 2018, 02:42 PM IST

बांसवाड़ा. गोविन्द गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय के निर्माण कार्य में ढिलाई के हालात हैं। विश्वविद्यालय के लिए जमीन की जंग जीत चुका विश्वविद्यालय प्रशासन अब भवन निर्माण कार्य के मामले में बेबस बना हुआ है। विवि की ओर से पत्र लिखने के बावजूद इसमें कोई प्रगति नहीं हुई है। विश्वविद्यालय के भवन निर्माण कार्य के पहले चरण में अप्रेल से कार्य प्रारंभ होकर अक्टूबर में पूरा होना था। इसके तहत वीसी, सीईओ, एकेडमिक ब्लॉक व स्टाफ क्वाटर्स निर्मित किए जाने थे, लेकिन अब तक यह कार्य प्रारंभ ही नहीं हुआ है।

निर्माण कार्य के लिए कार्यकारी एजेंसी आरएसआरडीसी, प्रतापगढ़ को बनाया गया है। मुख्यमंत्री इसका शिलान्यास 26 जून 2018 को कर चुकी हैं। मुख्यमंत्री ने भी इस कार्य को शीघ्र करने के लिए निर्देशित किया था। इसके बावजूद कार्यकारी एजेंसी व ठेकेदार फर्म की ओर से निर्माण कार्य में सुस्ती बरती जा रही है। ऐसा ही हाल रहा तो विश्वविद्यालय को स्वरूप लेने में वर्षों लग सकते हैं। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में विवि का संचालन जिला कलक्ट्रेट में स्थित टीएडी भवन में किया जा रहा है। इस पर भी विरोध सामने आ चुका है।

121.12 बीघा जमीन
विश्वविद्यालय के लिए 121.12 बीघा भूमि आवंटित की गई है। इस भूमि की चारदीवारी का कार्य प्रारंभ हो गया है। जबकि, मुख्य भवन व अन्य निर्माण कार्य का नक्शा तैयार किया जा चुका है। यह निर्माण कार्य विविध चरणों में होना है। भवन निर्माण के लिए विवि के खाते में करोड़ा का बजट भी स्वीकृत है।

2012 से आ गया 2018
विश्वविद्यालय को लेकर प्रदेश में गत कांग्रेस सरकार से कवायद चल रही है। पहले इसका नाम बदला गया फिर उदयपुर से बांसवाड़ा स्थानांतरण और फिर जमीन के लिए लम्बी खींचतान। कभी कॉलेज में तो कभी कहीं निर्माण की हलचल। माहीडेम मार्ग पर बड़वी में आखिर भूमि मिली तो अब निर्माण कार्य में देरी की जा रही है।

फिर भी नहीं कार्यालय
विश्व विद्यालय का करोड़ों रुपए का प्रोजेक्ट आरएसआरडीसी को सौंपा गया है। इसके बावजूद इसके लिए बांसवाड़ा में कोई कार्यालय प्रारंभ नहीं किया गया है। प्रतापगढ़ में बनाए गए कार्यालय से ही अब तक कागजी कार्य किया गया है, लेकिन इसे बांसवाड़ा में स्थानांतरित किए जाने की आवश्यकता है। इसके बाद ही निर्माण कार्य को गति मिलने की उम्मीद है।

पत्र लिखे, जवाब का इंतजार
विवि के भवन का निर्माण कार्य के लिए कार्यकारी एजेंसी आरएसआरडीसी ने ठेका दे दिया है। पर, काम प्रारंभ नहीं हुआ है। इसके लिए आरएसआरडीसी के परियोजना निदेशक को पत्र लिखे हैं वहां से जवाब का इंतजार है।
सोहन सिंह , कुल सचिव, जीजीटीयू बांसवाड़ा

Ashish vajpayee
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned