बांसवाड़ा : लॉकडाउन के कारण दो दिन से भूखे है राशन पहुंचाओ, जांच की तो परिवादी निकला ठेकेदार

Corona Virus Impact, Lockdown In Banswara : घाटोल उपखण्ड के देलवाड़ा रावणा गांव का मामल, ग्राम विकास अधिकारी ने जांच की तो सच आया सामने

बांसवाड़ा. (घाटोल). देश में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर लॉक डाउन के बीच शासन-प्रशासन आमजन को सुविधाएं प्रदान करने में जुटा हुआ हैं, वहीं ऐसे हालातों में भी कुछ लोग बेजा फायदा उठाने से बाज नही आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला घाटोल उपखण्ड क्षेत्र में सामने आया। जिसमें एक व्यक्ति ने लॉक डाउन में भोजन सहित अन्य सुविधा की मांग को लेकर टोल फ्री नंबर पर फर्जी परिवाद दर्ज करा दी। बाद में जब इसकी हकीकत खंगाली गई तो सामने आया कि जिस व्यक्ति ने परिवाद दर्ज कराया था, वो संपन्न हैं।

ये है मामला, ऐसे सामने आया सच : - घाटोल उपखण्ड के देलवाड़ा रावणा ग्राम पंचायत के एक व्यक्ति ने टोल फ्री नंबर परिवाद दर्ज कराया। जिसमें स्वयं के पास भोजन सामग्री खरीदने के लिए राशि नही होने का जिक्र किया गया। साथ ही खाद्य सामग्री भी नही होना बताया। परिवाद में दो दिन से भूखे होने की बात करते हुए जल्द से जल्द भोजन उपलब्ध कराने की मांग की गई। जब मामला स्थानीय ग्राम पंचायत तक पहुंचा तो ग्राम विकास अधिकारी रमेश पाटीदार ने इसकी जांच की। इसमें सामने आया कि जिस व्यक्ति के नाम से परिवाद दर्ज है, वो संपन्न हैं। ठेकेदारी का काम करने के साथ ही उसके पास दो मकान, जमीन, बाइक, कार एवं राशन की दुकान भी हैं। इसके अलावा संबंधित खाद्य सुरक्षा योजना में भी पात्रता की श्रेणी में पाया गया। इधर, मामले में परिवाद दर्ज कराने वाले व्यक्ति से बात की तो उसका कहना था कि वे घर पर जांच करने नही आए। मेरे पास अब भी खाद्यान्न सामग्री नही हैं। ग्राम विकास अधिकारी रमेश पाटीदार का कहना है कि परिवाद की जानकारी मिलने के बाद मौके पर जाकर जांच की गई। संबंधित परिवादी संपन्न हैं। किसी प्रकार की कोई समस्या नही मिली। जांच रिपोर्ट विकास अधिकारी को देकर प्रकरण निस्तारण कर कठोर कार्रवाई के लिए लिखा गया हैं।

Corona virus Corona virus Impact
Show More
Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned