बांसवाड़ा : प्राइवेट कॉलेजों में फर्जीवाड़ा मिला तो सम्बद्धता पर संकट, जीजीटीयू के 30 दल करेंगे निरीक्षण

बांसवाड़ा : प्राइवेट कॉलेजों में फर्जीवाड़ा मिला तो सम्बद्धता पर संकट, जीजीटीयू के 30 दल करेंगे निरीक्षण

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 06 2018 03:28:39 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा : प्राइवेट कॉलेजों में फर्जीवाड़ा मिला तो सम्बद्धता पर संकट, जीजीटीयू के 30 दल करेंगे निरीक्षण
बांसवाड़ा. निजी कॉलेजों में फर्जीवाड़ा नहीं चलेगा। कॉलेज भवन, भूमि, प्रयोगशाला, पुस्तकालय, शैक्षिक स्टाफ आदि संसाधनों की गहन पड़ताल होगी। इससे श्री गोविन्द गुरु राजकीय महाविद्यालय से सम्बद्धता प्राप्त निजी महाविद्यालयों की वास्तविक स्थिति जल्द सामने होगी। विश्वविद्यालय इन कॉलेजों की ओर से प्रोफाइल में बताए गए एक-एक तथ्य जांचेगा और इनमें सुधार के अवसर देते हुए आगामी वर्षों में सम्बद्धता संबंधित निर्णय किए जाएंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय की ओर से प्रारंभिक चरण में बांसवाड़ा, डंूगरपुर व प्रतापगढ़ के 10-10 कॉलेजों का चयन किया गया है।

कुल 30 कॉलेजों की पड़ताल के लिए 3-3 सदस्यीय 30 दल गठित किए गए हैं, जो संबंधित कॉलेज का निरीक्षण कर विवि को अपनी रिपोर्ट सौंपेगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। सूत्रों के अनुसार इन कॉलेजों को पूर्व में मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय उदयपुर से सम्बद्धता प्राप्त थी। वहीं अब भी बीए अंतिम वर्ष के इम्तिहान की जिम्मेदारी सुखाडिय़ा विवि पर ही है। ऐसे में कॉलेज की वास्तविक स्थिति सहित विस्तृत सूचनाएं जुटाने के दृष्टिगत भी यह कवायद की जा रही है। उल्लेखनीय है कि तीनों ही जिलों में करीब 110 से अधिक निजी महाविद्यालय विवि से सम्बद्धता प्राप्त हैं।

आयुक्तालय की भी जांच
इधर, आयुक्तालय कॉलेज शिक्षा ने भी कॉलेज भवन व भूमि की जांच प्रारंभ की है। ऑनलाइन सूचनाएं अपडेट करने के बाद कई महाविद्यालयों में गड़बड़ी होना प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है। इसके बाद आयुक्तालय भी इन कॉलेजों की जांच की तैयारी में है।

अपडेट होना जरूरी, सम्बद्धता संबंधित कड़े निर्णय किए जाएंगे
निजी कॉलेजों की पड़ताल के लिए दल बना दिए हैं, जो तय फार्मेट अनुसार पूरी जानकारी जुटाकर विवि को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। कमी पर तय समय में सुधार का अवसर मिलेगा। समय पर कमी दूर नहीं होने पर सम्बद्धता संबंधित कड़े निर्णय किए जाएंगे।
कैलाश सोडाणी, कुलपति, जीजीटीयू, बांसवाड़ा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned