स्वर निनाद-2018 : गोविन्द गुरु कॉलेज में सांस्कृतिक कार्यक्रमों में नृत्यों और गीतों में रमे और खूब झूमे छात्र

www.patrika.com/banswara-news

By: Sanjay Kumar Singh

Published: 18 Dec 2018, 02:40 PM IST

बांसवाड़ा. धरती धोरां री, मां मुझको तेरी दुआ चाहिए, भला किसी का कर न सको तो बुरा किसी का मत करना, पल-पल दिल के पास तुम रहते हो, जिंदगी की राहों में हम भी और दिल घबराता है.., जैसे भावपूर्ण गीतों ने जब मधुर धुनों का साथ पाया तो मुक्ताकाशी मंच में उपस्थित छात्र झूम उठे। अन्य श्रोता भी मन्त्रमुग्ध हो गए। अवसर था श्री गोविन्द गुरु राजकीय महाविद्यालय की सांस्कृतिक समिति और छात्रसंघ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित वार्षिक सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं और स्वर निनाद-2018 के आगाज का। इस वार्षिक प्रतियोगिता में सैकड़ों विद्यार्थियों ने सहभागिता निभाई। कार्यक्रम के दौरान फिल्मी गीतों पर डांस और वागड़ के लोक नृत्यों पर विद्यार्थी खूब झूमे। इसी कड़ी में एकल नृत्य और समूह नृत्य प्रतियोगिता में भी प्रतियोगियों ने वागड़ी, मालवी, गुजराती और हिन्दी सिने की चर्चित धुनों पर नृत्य पेश करना शुरू किया तो पांडाल में बैठे छात्र-छात्राएं भी अपने आपको थिरकने से रोक नहीं पाए। कार्यक्रम का शुभारम्भ अध्यक्षता कर रहे प्राचार्य डॉ. टीआर मेघवाल और मुख्य अतिथि डॉ. सीमा भूपेंद्र नेे मां सरस्वती और गोविन्द गुर की प्रतिमा पर माल्यार्पण और समक्ष दीप प्रज्वलन से किया। मुस्कान और साथियों ने ईश वंदन ‘ज्योति स्वरूप तुम हो’ प्रस्तुत की। कार्यक्रम की रूपरेखा सांस्कृतिक समिति प्रभारी डॉ. राजेश जोशी ने प्रस्तुत की।

कठोर पुरुषार्थ से संवारें कॅरियर
अध्यक्षीय उदï्बोधन में डॉ. मेघवाल ने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि ईश्वर ने सभी को किसी न किसी प्रकार की प्रतिभा अवश्य दी है। महाविद्यालयी ऐसे मंच न केवल उन प्रतिभाओं को उचित पोषण देते हैं, बल्कि जीवन के कई पाठ भी सिखाते हैं। सभी छात्रों को अपनी प्रतिभा को कठोर पुरुषार्थ से संवार कर देश, समाज और विश्व में अपनी प्रतिष्ठा बढ़ानी चाहिए। छात्रसंघ अध्यक्ष कविल डिन्डोर ने सभी का स्वागत किया। सांस्कृतिक समारोह में छात्रसंघ पदाधिकारियों ने पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष प्रकाश बामनिया, राकेश रावत, संजय खांट और एमबीडी कॉलेज कुशलगढ़ की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कमित्रा कटारा का स्वागत किया गया। समिति सदस्य प्राध्यापक आशीष कुमार, सुरेश कुमार, सौरभ कुमार, लीना पुरोहित, कमल त्रिवेदी, उमेशकुमार, सांस्कृतिक सचिव मदनी का सहयोग रहा। संचालन डॉ. लोकेन्द्रकुमार ने किया।

ये रहे विजयी प्रतियोगी
शास्त्रीय संगीत में रवीना गर्ग, मुस्कान खान, आमेरा आफरीन, एकल गीत में रवीना गर्ग, सजल पंचाल, तिलक पंचाल, एकल नृत्य मेंनिखिल डोडियार, अंजना निनामा, स्वप्निल डामोर क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पर रहे। इसी प्रकार समूह नृत्य में आशीष बामनिया और दल प्रथम, लोकेश डिन्डोर और दल तथा अंजलि निनामा और दल दोनों संयुक्त रूप से द्वितीय तथा प्रियंका और दल तृतीय स्थान पर रहे।

Show More
Sanjay Kumar Singh Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned