scriptDemonstration demanding extension of service life, bangles visible for | सेवा की मियाद बढ़ाने की मांग कर प्रदर्शन, मंत्रियों के लिए दिखाई चूडिय़ां | Patrika News

सेवा की मियाद बढ़ाने की मांग कर प्रदर्शन, मंत्रियों के लिए दिखाई चूडिय़ां

अस्थायी नियुक्त कोविड सहायकों ने आखिरी कार्य दिवस पर किया प्रदर्शन

 

बांसवाड़ा

Published: April 02, 2022 12:11:12 am

बांसवाड़ा. कोरोना काल में चिकित्सा सेवाओं में मदद के लिए जिले में अस्थायी तौर पर नियुक्त 800 से ज्यादा कोविड सहायकों ने अंतिम कार्यदिवस पर शुक्रवार को सेवा अवधि बढ़ाने की मांग को लेकर कलक्टरी गेट पर प्रदर्शन किया।महिला सहायकों ने वागड़ से दो-दो मंत्री होते हुए भी सरकार के समक्ष पैरवी नहीं होने पर रोष जताते हुए चूडिय़ां दिखाईं।
सेवा की मियाद बढ़ाने की मांग कर प्रदर्शन, मंत्रियों के लिए दिखाई चूडिय़ां
सेवा की मियाद बढ़ाने की मांग कर प्रदर्शन, मंत्रियों के लिए दिखाई चूडिय़ां
सुबह एमजी अस्पताल परिसर में राजस्थान कोविड सहायक एसोसिएशन के बैनर तले अस्थायी कार्मिक एकत्र हुए और महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना दिया। बाद में प्रतिनिधिमंडल ने पीएमओ डॉ. रवि उपाध्याय से के सेवा अवधि बढ़ाने की मांग की। पीएमओ ने स्पष्ट किया कि राज्य सरकार के आदेश से तय समय सीमा के लिए नियुक्तियां हुई थीं और सरकार के आदेश से ही सेवा समाप्ति हुई है। इस पर एसोसिएशन जिलाध्यक्ष प्रकाशचंद्र निनामा के नेतृत्व में प्रदर्शनकारी कलक्टरी गेट पर पहुंचे। काफी देर तक नारेबाजी के बाद धरना दिया। सभा में वक्ताओं ने सरकार को कोसा। कोतवाली पुलिस की ओर से गेट गेट बंद करने पर कुछ युवा ऊपर चढकऱ घुसने लगे। बाद में गेट खोलकर एक समूह को ज्ञापन देने जाने दिया। प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन में स्थायीकरण की मांग दोहराई।
महिला कार्मिकों में ज्यादा गुस्सा

इससे पहले धरने को संबोधित कर निनामा ने कहा कि एक जुलाई से ज्वाइनिंग के बाद बांसवाड़ा में 805 और प्रदेश में 25 हजार से ज्यादा युवाओं ने कोरोना की दूसरी लहर में सर्वे, वेक्सीनेशन आदि कार्य किए। अब 31 मार्च को सेवा अवधि समाप्त करने से युवाओं को बेरोजगार कर दिया गया है। सेवाएं बहाल रखने की एक सूत्री मांग को लेकर प्रदेश स्तर से निर्णय पर विधानसभा के समक्ष धरना और आंदोलन में तेजी लाने के कदम उठाए जाएंगे। इस दौरान महिला कोविड सहायकों ने भी जबर्दस्त असंतोष जताया और अक्षमता पर मंत्रियों-अफसरों के लिए चूडिय़ां दिखाईं।
शोषण पर ज्ञापन

इधर, राजस्थान स्टेट एड्स कंट्रोल एम्प्लाइज एसोसिएशन ने भी वर्षों की सेवाओं पर भी अल्प वेतन पर आक्रोश जताया। कार्मिकों ने बताया कि राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन द्वारा पंद्रह वर्षों से संचालित गतिविधियों से राज्य में सात हजार कार्मिक जुड़े हैं, लेकिन अब तक सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध नहीं है। हर साल बॉंड भरवाकर सेवाकाल बढ़ाया जा रहा है। गत 2 मार्च को एक दिन सेवाओं में ब्रेक देकर अवधि विस्तार किया। वेतन पुनरीक्षण में भी रुचि नहीं ली और कार्मिकों का शोषण किया जा रहा है। इसे लेकर कलक्टर को ज्ञापन दिया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.