बांसवाड़ा : तपती धूप में धरना दे रहे कार्मिक, सरकार व प्रशासन किसी को नहीं परवाह

मांगों को लेकर गत सात दिनों से कार्य बहिष्कार पर हैं मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के कार्मिक

By: Ashish vajpayee

Published: 25 Apr 2018, 02:44 PM IST

बांसवाड़ा. पारा कभी 41 तो कभी 42 डिग्री। तपती गर्मी में जिले के कंप्यूटर ऑपरेटर न्याय पाने के लिए गत 7 दिनों से कार्य बहिष्कार कर धरने पर बैठे हुए हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं। कार्मिकों का धरना मंगलवार को सातवें दिन भी जारी रहा। इस दौरान संगठन जिला उपाध्यक्ष पुष्पराज सिंह राठौड़, उमंग पाल देवड़ा, चंद्रेश मेहता, करनी प्रताप, रचना मेहता,दीप्ती मेहता सहित कई कार्मिक उपस्थित रहे। संगठन के जिला अध्यक्ष प्रशांत आचार्य ने बतायाकि हमारी सिर्फ दो मुख्य मांगे हैं पद नाम बदलना और कम से कम 18 हजार रुपए वेतन करना। जब तक सरकार ये नहीं मानेगी हम सभी धरने पर बैठे रहेंगे।

पूरे जिले से आते हैं कार्मिक
इस संगठन के तहत पूरे जिले में 100 कार्मिक कार्यरत हैं। जिसमें 15 कार्मिक महात्मा गांधी अस्पताल में और 85 कार्मिक जिले के अन्य सरकारी अस्पतालों में सेवाएं दे रहे हैं। और 18 अप्रैल से जारी इस धरने पर पूरे जिले के कार्मिक शिरकत कर रहे हैं। जिसमें महिला और पुरुष कार्मिक शामिल हैं।

स्वास्थ्य ही गड़बड़ा गया
कुशलगढ़ सीएचसी में कार्यरत प्रीति ठाकुर ने बताया कि सात दिनों से वे रोज 4 घंटे बस में सफर कर धरने पर बैठने के लिए जाती है। तेज धूप में हालत खराब हो जाती है। पूरे दिन गर्मी में बैठने के कारण दो दिन से तबीयत बिगडऩे लगी है।

यह हमारे हक की लड़ाई है
पीएचसी ओडवाडा में कार्यरत गीता पाटीदार ने बताया कि देा साल के बच्चे को साथ लेकर हड़ताल पर जाना पड़ता है। लेकिन यह हमारे हक की लड़ाई है, सरकार जब तक हमारी मांगे नहीं मानेंगी। कितनी भी कठिनाई आए हम धरने पर बैठे रहेंगे।

डूंगरपुर और प्रतापगढ़ से भी पहुंचे समर्थन को
हड़ताल पर बैठे कम्प्यूटर कार्मिकों को समर्थन देने के लिए डूंगरपुर और प्रतापगढ़ जिले से भी संगठन के पदाधिकारियों और सदस्यों ने बांसवाड़ा पहुंच धरने में शिरकत की। जिसमें सागवाड़ा ब्लॉक अध्यक्ष मयूर भावसार और प्रतापगढ़ जिला अध्यक्ष वैशाली श्रीवास्तव ने दल के साथ धरने पर बैठे समर्थन दिया।

Show More
Ashish vajpayee
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned