बांसवाड़ा : गर्भ में बेटा या बेटी, नेत्र जांच मशीन से परीक्षण के खतरों ने उड़ाई चिकित्सा विभाग की नींद

बांसवाड़ा : गर्भ में बेटा या बेटी, नेत्र जांच मशीन से परीक्षण के खतरों ने उड़ाई चिकित्सा विभाग की नींद

Ashish Bajpai | Publish: Aug, 28 2018 12:36:42 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

www.patrika.com/banswara-news

बांसवाड़ा : गर्भ में बेटा या बेटी, नेत्र जांच मशीन से परीक्षण के खतरों ने उड़ाई चिकित्सा विभाग की नींद
बांसवाड़ा. आंखों की जांच के लिए उपयोग में ली जाने वाली बी-स्कैन मशीन से भ्रूण ***** परीक्षण। सुनकर अजीब लगता है, लेकिन यह हकीकत सामने आने के बाद चिकित्सा विभाग के कान खड़े हो गए हैं और उसने इसकी निगरानी शुरू कर दी है। विभाग ने इस पर नकेल कसने के लिए मशीन को पीसीपीएनडीटी एक्ट के दायरे में लाने के साथ मशीनों का पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है। बांसवाड़ा सीएमएचओ ने इसे लेकर आदेश जारी कर दिए हैं। बिना रजिस्टे्रशन के यदि कोई सरकारी या निजी अस्पताल इसका उपयोग करता है तो उसे अवैध माना जाएगा।

यों संभव है मशीन से ***** परीक्षण
बी-स्कैन मशीन के तकनीकी जानकारों ने बताया कि उक्त मशीन में थोड़े बदलाव कर भ्रूण ***** परीक्षण संभव है। मसलन मशीन में प्रोब बदलकर भ्रूण ***** परीक्षण के काम में लिया जा सकता है। इससे बचने के लिए ही जिस प्रकार अल्ट्रासाउंड मशीन के उपयोग पर सख्ती बरती ठीक उसी प्रकार इस मशीन को दुरुपयोग से बचाने के लिए पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है।

यह भी होगी कवायद
बांसवाड़ा के पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ अधिकारी हरिकांत शर्मा ने बताया कि निर्देशों के तहत इन मशीनों में जीपीएस और एक्टिव ट्रैकर लगेंगे ताकि इनके उपयोग का लेखाजोखा चिकित्सा विभाग की निगरानी में रहे। साथ ही इनका स्थानांतरण राज्यादेश के बिना न हो सके। केंद्र सरकार के सेंट्रल सुपरवाइजरी बोर्ड (सीआरबी) की सिफारिश पर राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं स्वास्थ्य सचिव नवीन जैन ने सभी बी -स्कैन मशीनों को अधिनियम की जद में लेने का कार्य जिला पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठों को सौंपा है।

ऐसे करना होगा आवेदन
शर्मा ने बताया कि मशीनों के पंजीकरण को लेकर विभाग ने चिकित्सालयों में पत्र भी जारी कर दिए हैं। पंजीकरण के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में सम्पर्क करना होगा।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned