देवझूलनी एकादशी : मेघों की मल्हार और भक्तों ने की जयजयकार, देखो-देखो ठाकुरजी निकले होकर रथ पर सवार

- Dev Jhulni Ekadashi, Jal Jhulani Gyaras, Ram Rewadi In Banswara

- बांसवाड़ा में परंपरा अनुसार मनाई देव झूलनी एकादशी
- शहर के मंदिरों से निकली रामरेवाडिय़ां
- अखाड़ों के युवाओं ने दिखाए करतब

By: Varun Bhatt

Published: 09 Sep 2019, 06:45 PM IST

Banswara, Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. एक ओर मेघों की मल्हार, दूसरी ओर भक्तों के भजन और ठाकुरजी की जयजयकार से पुराने शहर में माहौल धर्ममयी रहा। भजनों के सुर और ढोल नगाड़ों की ध्वनियां रहरहकर भक्ति भावों से सराबोर करती नजर आईं। यह नजारा था सोमवार को देव झूलनी एकादशी के मौके पर शहर के मंदिरों से निकाली गई रामरेवाडिय़ों का। जहां धर्म और पराक्रम का अनूठा संगम देखने को मिला। एक ओर जहां घर के बड़े बुजुर्ग भक्ति में लीन दिखे, वहीं युवाओं के अद्भुत करतबों ने देखने वालों को दांतों तले अंगुलियां दबाने को मजबूर कर दिया। इससे पहले सुबह से ही मौसम भी खुशगवार रहा। देररात शुरू हुई मूसलाधार बारिश सूर्योदय तक थम तो गईं। लेकिन बौछारों का दौर जारी ही रहा। कभी धीमी तो कभी तेज बारिश मानों रहरहकर ठाकुरजी के चरण वंदन को आतुर हो। सिर्फ मेघ ही नहीं बल्कि श्रद्धालु भी रामरेवाडिय़ों के दर्शन और ठाकुरजी के चरण वंदन के लिए बड़ी संख्या में पहुंची। बरसों पुरानी परंपरा का निर्वहन करते रामरेवाडिय़ां निर्धारित मार्गों से होते हुए राजतालाब की पाल पहुंची, जहां आरती और पूजन के बाद रेवाडिय़ां मदिरों की ओर रवाना हो गईं। रामरेवाड़ी में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन भी मुस्तैद दिखा।

शहर में धारा 144 लागू, जुलूस-शोभायात्रा के लिए लेनी होगी मंजूरी, आपत्तिजनक नारे लगे तो होगा मुकदमा

करबत भी खूब कमाल के
शहर भर के अखाड़ों के युवाओं ने अद्भुत करबत का मुजायरा किया। जयजय श्री राम की गूंज के साथ ही युवाओं ने रस्सी पर चढऩे, मुगदर उठाने, मुंह से आग फेंकने, हाथों से नारियल तोडऩे सरीखे करतब दिखाए। जिसमें वनेश्वर महादेव बजरंग व्यामशाला, (पवनपुत्र खोडीयार माता व्यायामशाला किशनपोल दरवाजा) खोडियार माता मंदिर से, (पंचमुखी व्यायाम शाला पंच वसीटा धोबी समाज) मां आशापुरा मंदिर पैलेस रोड से, पवन पुत्र व्यामशाला, पवन पुत्र व्यामशाला, (पांड़व व्यायाम शाला) काली कल्याण धाम से, (मारुति व्यायाम शाला) नई आबादी के अलावा भी व्यामशालाओं के युवाओं ने करतब दिखाए। वहीं शहर के राधावल्लभ मंदिर, नृसिंह मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर, रूपचतुर्भुज, रघुनाथ मंदिर के अलावा अन्य कई मंदिरों से भी श्रद्धालुओं ने रेवाडिय़ां निकालीं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned