बांसवाड़ा : जिले में बंगाल का झोलाछाप गिरफ्तार, दुकानें छोडकऱ भाग गए कई झोलाछाप, तीन अवैध क्लीनिक सील

Jholachap In Rajasthan, Jholachhap In Banswara : जिले में तलवाड़ा, परतापुर, गनोड़ा क्षेत्र में कार्रवाई, स्टेरॉइड समेत 44 तरह की दवाइयां बरामद

By: deendayal sharma

Published: 03 Jan 2020, 09:37 AM IST

बांसवाड़ा. बांसवाड़ा जिले में तलवाड़ा, परतापुर, गनोड़ा क्षेत्र में गुरुवार को चिकित्सा एवं पुलिस विभाग के साझे दलों ने झोलाछाप के ठिकानों पर छापे मारे। इस दौरान बड़ी सफलता तलवाड़ा कस्बे में मिली, जबकि यहां एक झोलाछाप के क्लीनिक पर स्टेरॉइड सहित 44 तरह की दवाइयां बरामद हुईं, जबकि उसके पास क्लीनिक संचालन का कोई अवैध दस्तावेज मौजूद नहीं था। इस पर मौका कार्रवाई कर पश्चिम बंगाल निवासी संचालक उत्तम राय को गिरफ्तार किया गया।बीसीएमएचओ डॉ. दीपक पंकज ने बताया कि सदर थाने की टीम के साथ तलवाड़ा के अहमदाबाद क्लीनिक पर छापे के दौरान काफी मात्रा में इंजेक्शन, टेबलेट्स,स्टेरॉइड, आईवी फ्लूड, बच्चों के एंटिबायोटिक सीरप, एलोपैथिक दवाइयां बरामद हुईं। आरोपी राय के खिलाफ भादसं की धारा 420 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई। परतापुर.क्षेत्र में चिकित्सा एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीम ने अगरपुरा में संचालित दो अवैध क्लीनिकों को सील कर नोटिस चस्पा किए। खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी परतापुर डॉ. दीपिका रोत ने बताया कि इन्हें सात दिन में समस्त दस्तावेज लेकर खंड कार्यालय में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा परतापुर नया बस स्टैण्ड पर संचालित श्रीवात्सल्य चाइल्ड केयर क्लीनिक के संचालक को दस्तावेज एवं प्रमाण पत्र की प्रतिलिपि खण्ड कार्यालय में जमा करवाने के निर्देश दिए। कार्रवाई में परतापुर सीएचसी प्रभारी डॉ. अजयपाल सिंह, आरक्षी दिग्पालसिंह व रिपुदमन सिंह शामिल थे। उधर, गनोड़ा क्षेत्र के मोटागांव कस्बे में चिकित्सा एवं पुलिस विभाग की टीम ने एक अवैध क्लीनिक सील किया। मोटागांव थानाधिकारी एवं गनोड़ा चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजय मेहता ने घाटोल निवासी सौरभ जैन द्वारा संचालित क्लीनिक को अवैध पाया और सील कर नोटिस चस्पा करवाया। इधर, धरपकड़ की भनक पर क्षेत्र से कई नीम-हकीम अपनी दुकानें बंद कर भाग छूटे। मोटागांव में झोलाछाप मेडिकल के नाम अवैध क्लीनिक भी चला रहे हैं, वे भी कार्रवाई के डर से भूमिगत हो गए हैं। पुलिस और चिकित्सा विभाग की टीम ने परतापुर में जोशी डेंटल केयर परतापुर पर भी पड़ताल की। इस दौरान मालूम हुआ कि यहां संचालक द्वारा तीन वर्ष से पंजीकरण रिन्यू नहीं करवाया जाना पाया गया। संचालक को नोटिस जारी कर तुरंत प्रभाव से क्लीनिक एवं बॉयोमेडिकल वेस्ट का पंजीकरण करवाने के निर्देश दिए गए।

Show More
deendayal sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned