मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना के तहत बने टैंक टूटे, किसानों के मकान बहे, फसलें तबाह, भूखे मरने की नौबत

एमपीटी टूटने से दो मकान बहे, पांच किसानों की फसलें तबाह, बारिश ने खोली घटिया निर्माण की पोल

By: Varun Bhatt

Published: 13 Aug 2019, 12:52 PM IST

कुशलगढ़/बांसवाड़ा. उपखंड की बगायचा पंचायत में पिछले दिनों मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना के तहत बने चार एमपीटी (मिनी परकोलेशन टैंक) टूटने से दो किसानों के मकान बह गए और पांच किसानों के खेत तालाब में तब्दील होने से फसलें तबाह हो गई। गौरतलब है कि कुशलगढ़ विधायक रमीला खडिय़ा ने विधानसभा में मानसून सत्र के दौरान अपने निर्वाचन क्षेत्र में जलस्वावलम्बन योजना के तहत हुए घटिया निर्माण कार्यो की जांच को लेकर सवाल भी उठाया था।

बांसवाड़ा : मृतकों के नाम पर फर्जीवाड़ा कर उठाए फसली ऋण, अब लेम्पस और कॉपरेटिव बैंक मैनेजर सहित अन्य नामजद

गौरतलब है कि पिछले दिनों मप्र सीमा से सटी बगायचा पंचायत में हुई अत्यधिक बारिश के कारण चोरडुंगरी नाले पर डामोरफला में तीन और व चोरडंगरी फला में एक एमपीटी टूटने से पानी घरों में घुस गया जिससे मांगू पुत्र भावजी व भमू पुत्र कानहींग के मकान में रखा करीब 15 क् िवंटल से अधिक मक्का व अन्य अनाज, सिंचाई के पाइप व 25 हजार से अधिक नकदी व घर में रखा सामान बह गया, जिससे इन दोनों किसानों के भूखे मरने की नौबत आ गई। इसके अलावा पिदिया पुत्र गजहींग, वेलचंद पुत्र बिलीया, हकरा पुत्र लुंजा, कलू पुत्र हुकीया व नरसिंग पुत्र हुकिया के खेत में खड़ी फसल जलमग् न होने से तबाह हो गई।

वागड़ प्रयाग बेणेश्वर धाम फिर टापू में तब्दील, नदियां उफान पर, सभी पुलों पर चल रही पानी की चादर

विधायक ने लिया जायजा
विधायक रमीला खडिय़ा मौके पर पहुंची और पीडि़तों को मदद का भरोसा दिलाया। खडिय़ा ने नुकसान के आकलन के लिए गिरदावरी रिपोर्ट तैयार करने तथा संबधित विभाग को बगायचा क्षेत्र में जल स्वावलम्बन के दौरान हुए घटिया कार्यो की जांच करवाने के लिए कहा है।

Show More
Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned