बांसवाड़ा : वन क्षेत्र में मृत मिला पैंथर, पीछे के पैर टूटे और कमर पर फंदे के निशान मिले, हत्या की आशंका

www.patrika.com/banswara-news

By: Shiv

Published: 18 Dec 2018, 01:51 PM IST

बांसवाड़ा/घाटोल. घाटोल वन क्षेत्र में सोमवार सुबह एक पैंथर मृत पड़ा मिला। शव पर मिले निशान और मौके की स्थिति के अनुसार माना जा रहा है कि सुनियोजित ढंग से पैंथर की हत्या की गई है। हालांकि आरंभ में पैंथर की मौत खेत की तारबंदी में फंसने से होने की संभावना जताई जा रही थी। क्षेत्रीय वन अधिकारी ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। घाटोल रैंज के भागतोल वन क्षेत्र में सुबह ग्रामीणों को पैंथर मृत पड़ा नजर आया। इसकी सूचना मिलने करीब साढ़े 11 बजे क्षेत्रीय वन अधिकारी गोविंद सिंह राजावत मय टीम मौके पर पहुंचे। उन्होंने मृत पैंथर के शव को पोस्टमार्टम के लिए बांसवाड़ा भिजवाया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार पैंथर का शव करीब 36 घंटे पुराना है।

इस कारण संदिग्ध हालात
रैंजर राजावत के अनुसार पैंथर नर था। आयु करीब सात वर्ष व लंबाई 240 सेंटीमीटर थी। पैंथर के कमर के हिस्से में फंदे के निशान पाए गए। वहीं पीछे के पैर भी टूट हुए थे। राजावात का अनुमान है कि पैंथर के लिए किसी ने फंदा लगाया। फंदा अगले हिस्से में आने के बाद कमर में जाकर फंस गया। इससे वह आगे नहीं जा पाया। पोस्टमार्टम के बाद घाटोल के रैंज कार्यालय के पीछे शव का अंतिम कराया गया। इस दौरान उपखंड अधिकारी, तहसीलदार आदि मौजूद रहे।

गणना के बाद पहली मौत
इस वर्ष वन्यजीव गणना में 41 पैंथर जिले में पाए थे। गणना के बाद किसी पैंथर की यह पहली मौत है। हालांकि घाटोल क्षेत्र में पिछले वर्ष भी वर्चस्व की लड़ाई में एक पैंथर की मौत हुई थी। इसके बाद वन क्षेत्र में पैंथर के शव मिलने की यह तीसरी घटना है। इससे पहले बांसवाड़ा के समाईपुरा-केवलपुरा वन क्षेत्र में पिछले वर्ष नवम्बर में एक पैंथर मृत मिला था। मौके से कुछ दूरी पर एक गाय भी मृत मिली थी और आसपास किसी दवा की खाली शीशियां भी पड़ी थीं। उक्त शव को कटी हुई पतंग को लूटने के लिए गए बच्चों ने देखा था। पैंथर के शव पर कीड़े पड़ गए थे। वहीं लोहारिया क्षेत्र में भी एक पैंथर तारों के बीच फंसकर मर गया था।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned