बांसवाड़ा : गांव वालों के सामने 8 लोगों ने मिलकर विवाहिता को ऐसे किया बेइज्जत, फिर महिला ने उठा लिया ये कदम

बांसवाड़ा : गांव वालों के सामने 8 लोगों ने मिलकर विवाहिता को ऐसे किया बेइज्जत, फिर महिला ने उठा लिया ये कदम

Ashish Bajpai | Publish: May, 18 2018 01:19:06 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

विवाहिता को डायन कहकर प्रताडऩा दी

बांसवाड़ा. विवाहिता को डायन जैसे शब्दों से प्रताडि़त करने के आरोप में कलिंजरा थाना पुलिस ने गुरुवार को आठ जनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार इलाके की विवाहिता ने कलिंजरा निवासी रतना पुत्र कालिया सहित आठ जनों के खिलाफ गांव वालों के सामने गाली गलौच करते हुए मारपीट करने एवं डायन जैसे शब्दों से प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। पुलिस के अनुसार वारदात पांच मई की है। पीडि़त महिला ने परेशान होकर पुलिस के समक्ष आपबीती सुनाई जिसके बाद पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ डायन अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

मारपीट और तोडफ़ोड
आंगन में घुसकर मारपीट एवं तोडफ़ोड़ के आरोप में सल्लोपाट थाना पुलिस ने गुरुवार को 14 जनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार इलाके की एक विवाहिता ने झेर बड़ी निवासी बसू पुत्र दला सहित चौदह जनों के खिलाफ मारपीट एवं घर में तोडफ़ोड़ का आरोप लगाया है। रिपोर्ट के अनुसार 16 मई की रात आरोपित एकराय होकर आए और आते ही छेड़छाड़ करते हुए मारपीट की। इसके बाद कवेलूपोश मकान में तोडफ़ोड़ कर फरार हो गए। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। सदर थाना पुलिस ने घर में घुसकर मारपीट के आरोप में एक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार सामागढ़़ा निवासी ईश्वर पुत्र गलबाराम ने उसी गांव के अजीत पुत्र परार बंजारा के खिलाफ मारपीट का आरोप लगाया है।

घर से निकाला
दहेज की मांग को लेकर विवाहिता से मारपीट कर प्रताडि़त करने के बाद घर से निकालने के आरोप में महिला थाना पुलिस ने गुरुवार को 28 जनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार मंदसौर निलवासी जानवी पत्नी पीयुष दासनी ने मंदसौर परित्रम नगर निवासी पीयुश पुत्र हरीश दासनी सहित 28 जनों के खिलाफ प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। रिपोट्र के अनुसार आरोपित लंबे समय से दहेज की मांग को लेकर आए दिन विवाहिता के साथ मारपीट करते हुए उसे प्रताडि़त करते आ रहे हैं। लेकिन अब आरोपितों ने विवाहिता को घर से निकाल दिया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned