दानपुर में जुआघर पर एटीएस और पुलिस का छापा, 40 जुआरी गिरफ्तार, लाखों रुपए सहित 30 गाडिय़ां बरामद

Gambling In Banswara : 3 लाख 23 हजार 820 रुपए नकदी और 20 लग्जरी सहित 30 गाडिय़ां बरामद

By: deendayal sharma

Published: 19 Mar 2020, 01:18 PM IST

बांसवाड़ा. जिले के दानपुर थाने से 500 मीटर की दूर लंबे समय से चल रहे एक जुआघर पर बुधवार तडक़े उदयपुर एटीएस और पुलिस की साझा टीम ने छापा मारा और 40 जुआरियों को गिरफ्तार कर 3 लाख 23 हजार 820 रुपए नकदी, ताश की गड्डियों और 30 वाहन बरामद किए। रेंज आईजी विनीता ठाकुर ने बताया कि उन्हें और एटीएस को इस बारे में मिली एक शिकायत पर यह संयुक्त कार्रवाई की गई। इसके तहत सुबह करीब 5 बजे टीम ने पहुंचकर रेड की। इधर, सूत्रों ने बताया कि आम्बापाड़ा निवासी लक्ष्मण पुत्र लालजी निनामा के मकान पर छापे के दौरान टीम आते देखकर कई जुआरी भागने लगे। टीम ने घेराबंदी कर उसे पकड़ा। इस दौरान कुछ जुआरी भागते समय गिरकर जख्मी भी हुए। एक जने के हाथ में शीशा भी घुस गया। प्राथमिक उपचार के बाद उसे अन्य जुआरियों के साथ दानपुर थाने ले जाया गया। बाद में आनन-फानन में केस दर्ज कर कार्रवाई की गई।

नहीं लगी भनक, एसपी-डीएसपी भी पहुंचे : - मौके से एटीएस की टीम ने जुआरियों की 20 लग्जरी गाडिय़ों के अलावा 9 दुपहिया वाहन और एक टैम्पो भी जब्त किया। सुबह करीब आठ बजे एसपी केसरसिंह शेखावत दानपुर थाने पहुंचे। इससे पहले पहुंच चुके डीएसपी अनिल मीणा से उन्होंने जानकारी ली। बाद में चर्चा पर एसपी और थानाधिकारी सज्जनसिंह ने इसे संयुक्त कार्रवाई बताते हुए प्रेस रिलीज जारी करना बताया, लेकिन शाम साढ़े छह बजे तक ऐसा नहीं हुआ।

दानपुर पुलिस की भूमिका पर संदेह : - थाने के करीब लंबे समय से जुआघर चलने और शिकायतकर्ता द्वारा बांसवाड़ा पुलिस पर भरोसा नहीं होने से आईजी स्तर तक सूचना देने से दानपुर पुलिस की भूमिका पर संदेह गहरा गया है। कार्रवाई के घंटों बाद भी कवरेज को लेकर दानपुर थाने में पुलिस टालती रही। सूत्र बताते हैं कि पकड़े गए 40 लोगों में कुछ राजनीतिक और रसूखदार भी हैं। यही कारण रहा कि पुलिस ने बरामदशुदा गाडिय़ां भी थाने के एक तरफ एकांत में रखवाई ताकि किसी को जानकारी नहीं हो।

पहले गिरी थी गाज, फिर दोहराव की संभावना : - मध्यप्रदेश की सीमा से सट्टे दानपुर में जुआ-सट्टा बरसों से चल रहा है। इससे पहले उच्चाधिकारियों के निर्देश पर पहुंची टीम ने दो दर्जन जुआरियों को पकड़ा। तब तत्कालीन थाना अधिकारी शिवनाथसिंह को लाइन हाजिर भी किया गया। उसके बाद कुछ समय थमने के बाद फिर सिलसिला चल पड़ा। ऐसे में माना जा रहा है कि कुछ जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों पर फिर गाज गिर सकती है।

matka gambling
Show More
deendayal sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned